59 साल बाद महाशिवरात्रि पर बन रहा महायोग, सिद्ध होंगे सारे काम

Slider 1
« »
13th February, 2020, Edited by Focus24 team

धर्म डेस्क ।भगवान शिव की कृपा प्राप्त करने का सबसे सरल और सुयोग्य दिन महाशिवरात्रि होता है। इस दिन बेहद ही आसानी से शिव प्रसन्न होते हैं और मन से की गयी पूजा को वह तुरंत स्वीकार कर मनोवांक्षित फल को प्रदान करते हैं। इस बार महाशिवरात्रि पर शिव लोगों की मनोकामनाएं पूर्ण करेंगे। लेकिन, इस बार महाशिवरात्रि बहुत ही खास होगी। इस बार विशेष संयोग और महत्वपूर्ण दिन बनकर महाशिवरात्रि लोगों के हर कार्य सिद्ध करेगा। इस वर्ष का विशेष योग ठीक वैसा ही बन रहा है, जैसा की 59 साल पहले बना था। वर्ष 1961 में इसी तरह का विशेष संयोग बना था। 

 सर्वार्थ सिद्धि योग
भगवान शिव को प्रसन्न करने वाले इस  महाशिवरात्रि पर सर्वार्थ सिद्धि योग का संयोग बन रहा है। इस दिन भगवान शिव-पार्वती की पूजा-अर्चना करना मनुष्य जीवन के लिये बहुत श्रेष्ठकर होगा और उनके सर्वार्थ कार्य सिद्ध कर देगा। महाशिवरात्रि को शिव पुराण का पाठ करने और शिव लिंग पर विधि विधान से पूजन कर जल चढाने से बहुत लाभ होगा और इस दिन महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना बहुत हितकर होगा। 

विशेष प्रभावकारी 
इस बार महाशिवरात्रि 21 फरवरी को होगी। महाशिवरात्रि पर चंद्र शनि की मकर में युति के साथ शश योग बन रहा है। यह योग बेहद ही फलदायी होगा और सर्वार्थ कार्य सिद्ध करेगा। चूंकि पिछले 59 साल से और सामान्य तौर पर श्रवण नक्षत्र में आने वाली शिवरात्रि व मकर राशि के चंद्रमा का योग ही बनता है। लेकिन इस बार शनि के मकर राशि में होंगे। शनि के वर्गोत्तम अवस्था में ही यह विशेष योग बन रहा है और शश योग बेहद ही फलदायी होगा यह शनि के वर्गोत्तम अवस्था का स्वारूप है।