69 हजार टीचर भर्ती के रिजल्ट पर विवाद, हाईकोर्ट में याचिकाएं

Slider 1
« »
19th May, 2020, Edited by Focus24 team

प्रयागराज सिटी। उत्तर प्रदेश की चर्चित 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती अब अपने अंतिम समय में भी विवादित होती नजर आ रही है। रिजल्ट को लेकर अभ्यर्थियों ने कयी गंभीर सवाल उठाये हैं और अब यह मामला हाईकोर्ट भी पहुंच गया है। कयी अभ्यर्थियों ने रिजल्ट के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर दी है और अगर यह याचिकाएं स्वीकार की जाती हैं तो एक बार फिर से भर्ती प्रक्रिया के अधर में ही लटक जाने के आसार बन जायेंगे। इस बावत जानकारी देते हुये इलाहाबाद हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता आर के ओझा व संतोष कुमार त्रिपाठी ने बताया कि उत्तर कुंजी में कयी सवालों के विकल्प गलत थे, उसे ठीक करने के बजाय जल्दबाजी में रिजल्ट जारी कर दिया गया और इसका असर हजारों लोगों पर पड़ रहा है और वह भर्ती प्रक्रिया से बाहर हो रहे हैं। इसे लेकर हाईकोर्ट में याचिकाएं दाखिल की गयी हैं। 

तत्काल सुनवाई की मांग

इलाहाबाद हाईकोर्ट में 69 हजार शिक्षक भर्ती परिणाम घोषित होने के बाद जारी उत्तर कुंजी से कई सवालों के विकल्प उत्तर गलत पाए जाने के साक्ष्यों के साथ दर्जनों अभ्यर्थी हाईकोर्ट पहुंच गये हैं। जिनकी ओर से अधिवक्ताओं ने अर्जेंसी की अर्जी दी है। यह अर्जी तत्काल सुनवाई के लिये दी जाती है। चूंकि भर्ती प्रक्रिया में जल्द ही नियुक्ति करने आदि का आदेश सरकार की ओर से जारी किया गया है, इसे लेकर ही यह अर्जी दी गयी है।

अभी मंजूरी का इंतजार 

इलाहाबाद हाईकोर्ट में इन याचिकाओं पर सुनवाई कब होगी ? यह स्वीकार होंगी या नहीं ? इस पर अभी फैसला नहीं हो सका है। दरअसल  तत्काल सुनवाई की अर्जी दाखिल करने के बाद अभी तक महानिबंधक कार्यालय की तरफ से कोई सूचना नहीं दी गयी है। जिसके कारण इस पर संशय बना हुआ है। हालांकि पूरी संभावना है कि हाईकोर्ट इस पर सुनवाई करेगा और कुछ न कुछ प्रभाव भर्ती प्रक्रिया पर पडेगा और अगल अभ्यर्थियों के साक्ष्य सही हुये तो भर्ती प्रक्रिया को बीच में ही रोका जा सकता है।