न बाराती न बैंड-बाजा, फ्लाइट से अकेले पहुंचे दूल्हा राजा, फिर हुआ....

Slider 1
« »
14th June, 2020, Edited by Focus24 team

रांची। आप जैसे ही शादी का नाम सुनते हैं तो सीधे बैंड, बाजा और बारात की छवि उभरने लगती होगी। इसके साथ ही साथ बैंड, बाजा के पीछे डांस करते पुरुष और महिलाएं। लेकिन इस साल ऐसा नहीं हो पा रहा है। कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कायदे-कानून ने विवाह के तरीके ही बदल कर रख दिये। अब आपको ऐसी ही एक शादी शनिवार को रांची के माहेश्वरी भवन की बात बताते हैं। इंदौर से दूल्हा कृष्णा साहू बिना बारात के अकेले ही फ्लाइट से 11 जून को रांची पहुंचे। शनिवार को जया कुमारी के साथ सात जन्मों का निभाने के लिए बंधन में बंध गए। दूल्हा पक्ष से कोई भी व्यक्ति शामिल नहीं हुआ। करीब 35 लोग जो विवाह के साक्षी बने वे सभी लड़की पक्ष से थे।

मां ने आरती उतारकर किया रवाना...

दूल्हा कृष्णा ने बताया कि जब घर से रांची आने के लिए निकला, तो मां ने आरती उतारकर रवाना किया। शादी में माता-पिता, रिश्तेदार और न ही दोस्त शामिल हो पाए, क्या ये कमी महसूस हो रही है।  कृष्णा ने कहा कि सहजयोगी परिवार ही सबसे बड़ा परिवार है। शादी की सारी रस्में ऑनलाइन हुईं। यह शादी सहज योग केंद्र की देखरेख में आयोजित हुई।