कवि-कवयित्रियों को धर्मवीर भारती और अमृता प्रीतम सम्मान से नवाज़ा गया

Slider 1
« »
2nd October, 2020, Edited by Shikha singh

फीचर्स डेस्क। "साधना से सिद्धि तक"--काव्य मंजरी साहित्यिक मंच (रजि) को ये नया नारा देकर मंच की संस्थापिका एवं राष्ट्रीय अध्यक्षा डॉ नीरजा मेहता 'कमलिनी' ने ऑनलाइन हिंदी पखवाड़े का आयोजन किया। इसका प्रारंभ 14 सितंबर 2020 को हिंदी दिवस से हुआ जिसमें ऑनलाइन काव्य गोष्ठी सम्पन्न हुई। इस गोष्ठी में 59 कवि कवयित्रियों ने भाग लिया और काव्य की ऐसी मधुर तान छेड़ी कि श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए।

मुख्य अतिथि अयोध्या से डॉ स्वदेश मल्होत्रा 'रश्मि' ने दीप प्रज्वलन कर गोष्ठी का शुभारंभ किया तथा अपनी मधुर आवाज में गोरखपुर से सुश्री प्रतिभा गुप्ता ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। मुख्य अतिथि ने अपने वक्तव्य में सभी का उत्साहवर्द्धन करते हुए अपनी सुंदर रचना से आयोजन का आगाज़ किया। अतिथि कवयित्रियाँ ऑस्ट्रेलिया से नेहा शर्मा 'नेह' और पश्चिम बंगाल से पदमा शर्मा 'आँचल' ने मंच को शुभकामनाएं देकर अपनी रचना की प्रस्तुति दी। अलग-अलग प्रदेशों से जुड़े मंच के सभी रचनाकारों ने सुंदर काव्य पाठ से सबका मन मोह लिया। इस गोष्ठी का संचालन अयोध्या से सुश्री कात्यायनी उपाध्याय 'कीर्ति', मेरठ से सुश्री सीमा गर्ग 'मंजरी' और जोधपुर से सुश्री संतोष सोनी 'तोषी' ने मनमोहक अंदाज़ में किया। मंच की राष्ट्रीय अध्यक्षा ने सभी का आभार प्रकट करते हुए सभी कवियों को "धर्मवीर भारती सम्मान" और सभी कवयित्रियों को "अमृता प्रीतम सम्मान" देकर सम्मानित किया। तीनों संचालिकाओं को "श्रेष्ठ संचालिका सम्मान" से अलंकृत किया गया।