लाइफस्टाइल : ऑफिस का वर्कस्ट्रेस दूर करने का 5 इजी टिप्स

Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
12th October, 2019, Edited by Shikha singh

फीचर्स डेस्क। आप वर्किंग वोमेंस या गर्ल्स हैं। तो वीक में कई बार ऐसा होता होगा कि आप जब ऑफिस से घर के लिए निकलती होगी तो थकी सी बॉडी लगती होगी। दरअसल, इसके पीछे कारण कभी कभी बहुत अधिक काम का प्रेशर होता है। अगर ऐसा सच मे है तो समझिए आपको ज्यादा ही गुस्से चिड़चिड़ापन कि झलक दिखनी तय है। अब इसका हल आपको को ही खोजना है, मतलब ऑफिस कि का बोझ ऑफिस में ही छोड़ आना होगा। अगर मूड खराब है तो घर आकर शाम भी खराब होगी और रोमाटिक डिनर प्लान से लेकर घर में फैमिली टाइम सब कुछ ठीक नहीं होगा। तो आइए लाइफस्टाइल एक्सपर्ट मीना सक्सेना से जानते हैं टिप्स :

अपने काम को लेकर सवाल-जवाब कर लीजिए  

अधिक सोचने कि जरूरत नहीं, फिर भी थोड़ा बहुत सोचने की जरूरत तो है।ऐसे में बेस्ट रहेगा कि अपने वर्किंग डे को लेकर खुद से 5 मिनट सवाल-जवाब कर लिए जाएं।आपने क्या अच्छा किया, दिन कितना प्रोडक्टिव था, मूड खराब होने के बाद भी काम तो पूरा हुआ, जो नहीं हो सकता वो कल हो जाएगा, काम कल कैसे बेहतर करना है उसकी स्ट्रैटजी आदि बनाई जा सकती है। इसके लिए बहुत ज्यादा समय न खर्च करना वर्ना दिक्कत हो सकती है।

घर पर भी कुछ काम करने को आदत डाले

कई बार वोमेंस को इसे लेकर बहुत चिढ़ हो जाती है कि उन्हें घर जाकर बहुत सारा काम करना है। फिर इसको लेकर रास्ते में टेंशन लेने से कुछ नहीं होगा। यही नहीं बल्कि डिनर के लिए बाहर जाना है ऐसे में कौन सी ड्रेस पहननी है, कपड़े या बर्तन धोने हैं तो उन्हें कितने टाइम में निपटा लेंगी। वीकएंड की प्लानिंग से लेकर अगले दिन की प्लानिंग और शॉपिंग लिस्ट तक सब कुछ इस समय में किया जा सकता है। 5-10 मिनट से ज्यादा इसमें भी न लगाइएगा। ऐसे में घर जाकर चिड़चिड़ाहट नहीं होगी और आपको पता होगा कि क्या काम करना है।  

रिलैक्स और सीखने का समय

अगर घर जाते समय ड्राइव नहीं करनी है और पब्लिक ट्रांसपोर्ट में हैं तो बेहतर होगा कि अपना समय ऐसे खर्च करें। इसके लिए किताब पढ़ सकती हैं। किसी ऑनलाइन कोर्स को देख सकती हैं, किसी वीडियो को देख सकती हैं जो नॉलेज दे, कोई पहेली सुलझा सकती हैं। अगर ये सब नहीं करना है तो बेहतर होगा कुछ रिलैक्सिंग एक्सरसाइज करें। इससे आपका दिमाग शांत होगा। कई सारी एक्सरसाइज फॉलो की जा सकती हैं। 

टेंशन खत्म करने की कोशिश करें

अगर आपको मौका मिले तो रास्ते में टेंशन खत्म करने के लिए कुछ एंटरटेनमेंट कर सकती हैं। आस-पास वाली महिलाओं से दोस्ती करने की कोशिश करें जो रोज़ रास्ते में मिलती हैं। अगर नहीं तो सीढ़ियां चढ़ते या उतरते समय एक दो सीढ़ी स्किप कर दें। या कहीं चलते-चलते थोड़ा सा जंप मार लें। ये पढ़ने में बड़ा ही बचकाना लग सकता है, लेकिन है बहुत काम का। हां, ध्यान रखिएगा कोई ऐसे समय देख न रहा हो। अगर कॉन्फिडेंट हैं तो किसी के सामने भी कर सकती हैं। इसी के साथ, सांस लेने के तरीके को भी ध्यान में रखें। उछलना-कूदना और सांस लेने का तरीका शरीर में अलग तरह के हार्मोन्स बढ़ाता है और इससे बहुत अच्छा असर हो सकता है। 

म्यूजिक सबसे ज्यादा रिलैक्स करेगा

अपने मूड को रिलैक्स करना है तो म्यूजिक का सहारा लें। म्यूजिक आपके मूड को रिलैक्स कर सकता है। अपनी पसंद का गाना सुनें और अगर मूड को थोड़ा तरोताज़ा करना है तो कोई नया ट्रैक सुनें। अगर घर जाते समय रिलैक्सिंग म्यूजिक रोज़ सुनते हैं तो कोई आइटम नंबर लगा लें। इससे बहुत असर पड़ता है और दिमाग उसी गाने की ओर केंद्रित हो जाता है। इससे गुस्सा कम होगा और अगर रोज़ चिड़चिड़ापन हो रहा है तो वो भी दूर होगा।