केकेआर के लिए कायदे से कार्तिक नहीं मॉर्गन ....

Slider 1
« »
5th October, 2020, Edited by Priyanka Shukla

फीचर्स डेस्क। इनका नाम है ओएन मॉर्गन। इनके नाम से आप बिल्कुल भी अनुमान नहीं लगा सकते कि इंग्लैंड की t20 और 50 - 50 क्रिकेट टीम का ये ट्रेंडसेटर कप्तान इस्लाम धर्म को मानता है। इनके बल्ले के स्टीकर पर ध्यान दीजिए, ज्यादातर पाकिस्तानी खिलाड़ी इसी ब्रांड का यूज करते हैं। मॉर्गन जेंटलमैन खिलाड़ी हैं। न्यूजीलैंड पर पिछले वर्ल्ड कप के फाइनल में मिली विवादित जीत के बाद इन्होंने स्वीकारा था कि वे ऐसी जीत नहीं चाहते थे।  ज्यादातर क्रिकेट प्रेमी ख़ासकर भारतीय विदेशियों में केन विलियमसन को बतौर कप्तान और खिलाड़ी बहुत पसंद करते हैं। मॉर्गन भी विलियमसन जैसे कूल हैं, किन्तु उनके समान लोकप्रिय नहीं हैं। 

आईपीएल की महिमा देखिए, विलियमसन और मॉर्गन जैसे कप्तान जिनके नेतृत्व में उनके देश की टीमों ने वर्ल्ड कप का फाइनल आमने - सामने खेला, उन्हें यहां शहरी टीमों की कप्तानी नहीं मिली। विराट की क्लास के प्लेयर विलियमसन तो खैर सनराइजर्स हैदराबाद की फाइनल इलेवन में नियमित जगह भी नहीं बना पाते। मॉर्गन की बात अलग है, क्लासिक नहीं विस्फोटक हैं, एक ओवर में गेम पलट सकते हैं। दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ उनकी जान फूंकने वाली पारी ने यह बात एक बार और साबित कर दी।  इंग्लैंड पर सीमित ओवरों के क्रिकेट में भी टेस्ट मैच एप्रोच रखने का ठप्पा इनकी कप्तानी की वजह से हटा है। इंग्लैंड से पहले वे आयरलैंड के लिए खेलते थे और उसकी तरफ से भी सेंचुरी लगा चुके हैं। 

दिनेश कार्तिक की कप्तानी में 'गंभीर' चतुराई नजर नहीं आती। कोलकाता नाइराइडर्स का टीम कांबिनेशन बैटिंग आर्डर की अनिश्चितता से बिगड़ रहा है। सुनील नरेन से ओपन कराने का फार्मूला नहीं चल रहा। ख़ुद कार्तिक भी अपने सेकंड डाउन आने को लेकर कन्फ़र्म नहीं हैं। केकेआर के पास इस आईपीएल का सबसे लंबा बैटिंग लाइनअप है, पर... मेरी पिछली पोस्ट में एक मजेदार कमेंट आया था " ज्यादा जोगी मठ उजाड़", बिल्कुल वही हाल है। कप्तान को कॉन्फिडेंट होना चाहिए, सशंकित नहीं। अब बताएं मॉर्गन को केकेआर में फिनिशर के अलावा और क्या भूमिका मिलनी चाहिए?  वैसे कार्तिक बढ़िया खिलाड़ी हैं, लेकिन कप्तान.....!!!!?

अताह तापस