इरफान खान के टॉप 10 डायलॉग्स...'बीहड़ में तो बागी होते हैं, डकैत मिलते हैं पार्लियामेंट में'

Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
29th April, 2020, Edited by Focus24 team

बॉलीवुड डेस्क । 54 साल की अल्पआयु में ही बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन कलाकारों में से एक इरफान खान ​दुनिया को छोडकर जा चुके हैं। आज उनका निधन मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में हो गया है। लेकिन, अपने फिल्मी सफर में उन्होंने संघर्ष की जो कहानी लिखी है, वह हमेशा याद की जाती रहेगी। इरफान की डायलाग डिलिवरी और अदाकारी का हर कोई ​दीवाना था। उनके कयी डायलाग इतने फेमस हुये कि दूसरे दिग्गज कलाकार भी उसे दोहराने का प्रयास करते थे। लेकिन, इरफान तो इरफान ही थे, उनका जैसा दूसरा कोई नहीं....। फिलहाल आइये हम आपको इरफान के टास 10 डॉयलाग से रूबरू कराते हैं, जो लोगों की जुबान पर छा गये थे। 

फिल्म- कसूर
आदमी जितना बड़ा होता है.. उसके छुपने की जगह उतनी ही कम होती है।

फिल्म - जज्बा

यहां सबका एक ही तकिया-कलाम है, हजार के नोट पे बापू को सलाम है।

नींद न माशूका कि तरह होती है, वक्त न दो तो बुरा मानके चली जाती है।

शराफत की दुनिया का किस्सा ही खतम, अब जैसी दुनिया वैसे हम


फिल्म- डी-डे
सिर्फ इंसान गलत नहीं होते, वक्त भी गलत हो सकता है।

गलतियां भी रिश्तों की तरह होती हैं, करनी नहीं पड़ती, हो जाती है।


फिल्म- गुंडे
अक्सर हर देश बड़ी समस्याएं सुलझाने के चक्कर में ये भूल जाता है कि उसकी कितनी बड़ी कीमत उसके अपने लोगों को चुकानी पड़ती है।

किस्मत की एक खास बात होती है, कि वो पलटती है।

 

फिल्म- पीकू
डेथ और शिट किसी को, कहीं भी, कभी भी आ सकती है।


फिल्म- करीब-करीब सिंगल 
कुल तीन बार इश्क किया, और तीनों बार ऐसा इश्क मतलब जानलेवा इश्क किया


फिल्म- चॉकलेट
प्यार अंधा होता है और प्यार में पड़ने वाले उससे बड़े अंधे होते हैं।

शैतान की सबसे बड़ी चाल ये है कि वो सामने नहीं आता।

 

फिल्म- तलवार
किसी भी बेगुनाह को सजा मिलने से अच्छा है दस गुनहगार छूट जायें


फिल्म- पान सिंह तोमर
बीहड़ में तो बागी होते हैं, डकैत मिलते हैं पार्लियामेंट में