दक्षिण अफ्रीका की कुख्यात गैंगें पहुंचा रही घर घर खाना...

Slider 1
« »
9th April, 2020, Edited by अमरीश मनीष शुक्ला 

इंटरनेशनल डेस्क । कोरोना से जब पूरी दुनिया लड़ रही है, उस बीच दक्षिण अफ्रीका से कुछ ऐसी तस्वीरे और खबरें आई हैं, जो इंसानियत की मिशाल बन गयी हैं। दक्षिण अफ्रीका में कुख्यात अपराधियों और गैंगों को सुधारने का जो काम दुनिया का कोई भी कानून और पुलिस नहीं कर पायी व कोरोना वायरस ने कर दिया है। यहां कुख्यात अपराधियों का हृदय परिवर्तन हो चुका है और वह गलत कामों छ़ोड़कर देशवासियों की मदद के लिये आगे आये हैं। 

मुश्किल में देश के साथ 

ये तस्वीर दक्षिण अफ्रीका की है। पहली नजर में यह आपको नहीं समझ में आयेगी। लेकिन, जो दिख रहा है वह अद्भुत है। दरअसल दक्षिण अफ़्रीका के कुख्यात गैंगों ने आपसी विवाद छोड़कर ड्रग डिलीवरी नेटवर्क को ग़रीबों के लिए खाना पहुंचाने में इस्तेमाल करना शुरू किया है। बड़े बड़े अपराधी इस मुश्किल घड़ी में मशीहा बन गये हैं। भले ही यह  कल तक समाज के दुश्मन रहे हैं, लेकिन आज यह पूरी दुनिया के लिये मिशाल हैं, प्रेरणा स्त्रोत हैं। ये देश भक्ति का कभी नाटक नहीं करते थे, ऐलान नहीं करते थे। लेकिन, आज इन्होंने साबित किया किया कि जब बात देश पर संकट की होगी तो सूरज भी पश्चिम से निकलेगा। 

आपसी दुश्मनी भुलाई 

दक्षिण अफ्रीका ड्रग तस्करी को लेकर काफी बदनाम है और वहां पर बहुत सारे गैंग इस गलत धंधे से जुड़े हुये है। इनकी सबसे बड़ी खाशियत इनका नेटवर्क होता है। जो एक एक गली में फैला होता है। अलग अलग गैंगों का अलग अलग इलाका होता है और इनमें जबरजस्त दुश्मनी होती है। अक्सर इनके बीच गैंगवार होता रहता है। और बड़े बड़े कुख्यात अपराधी इस नेटवर्क को चलाते हैं। यही कारण है कि आज तक लाख कोशिशों के बाद भी दक्षिण अफ्रीका से ड्रग तस्करों के नेटवर्क को कभी तोड़ा नहीं जा सका है। हालांकि अब कोरोना वायरस आने के बाद जब पूरा दक्षिण अफ्रीका संकट में है तब इन गैंगों ने अपनी आपसी दुश्मनी को भुला दिया है। लोग अपने घर घर पहुंचने वाले नेटवर्क का इस्तेमाल लोगों को मदद पहुंचाने के लिये कर रहे है। उन्हें खाना पहुंचाने के लिये गैंग के सदस्य काम कर रहे हैं और देश के संकट के समय यह असली कोराना वॉरियर्स बनकर आ गये हैं। 

जूझ रहे हैं गरीब 

दरअसल यहां कई इलाकों में लॉकडाउन चल रहा है, ऐसा ही एक इलाका केप टाउन शहर भी है।  लाकडाउन में गरीब भोजन की समस्या से जूझ रहे हैं। ऐसे में उनकी मदद बहुत अधिक आवश्यक बन गयी है। खास कर गरीबों तक भोजन पहुंचाना । ऐसे में इन इलाकों में मौजूद गिरोहों ने आपसी विवाद भुलाते हुए अपने ड्रग डिलीवरी नेटवर्क को ग़रीबों के लिए खाना पहुंचाने में इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है ।