100 साल पुरानी हवेली फातिमा महल के इर्द गिर्द घूमती फ़िल्म गुलाबो सिताबो 

Slider 1
« »
12th June, 2020, Edited by Focus24 team

इंटरटेनमेंट डेस्क। मैं अपने मनोरंजन का या हंसने का कोई अवसर नहीं छोड़ती । और सामने कोई फ़िल्म हो तो बिल्कुल नहीं। पुराने कलाकारों में 'राजकुमार ' की कोई फ़िल्म देखना नहीं चूकती और नए हीरो में अमिताभ जी की। कल अमेजॉन प्राइम वीडियो में देखा मैंने --अभिताभ बच्चन की ," गुलाबो सिताबो'  फ़िल्म का प्रारंभ कठपुतली के नाच से होता है । ( गुलाबो और सिताबो दो देवरानी और जेठानी की कठपुतलियां थी, जो अक्सर एक दूसरे से लड़ा करती थी लेकिन एक दूसरे के बिना रह भी नहीं पाती थी। ये लखनऊ की जानी मानी कठपुतलियों के नाम है।  और आयुष्मान और अमिताभ अपनी फिल्म गुलाबो सिताबो में उन्ही कठपुतलियों का किरदार निभा रहे हैं. ) फ़िल्म की कहानी लखनऊ में 100 साल पुरानी हवेली फातिमा महल के इर्द गिर्द घूमती है। जिसमें मिर्जा (अमिताभ बच्चन) अपनी पत्नी बेगम के साथ रहते हैं।

लेकिन हवेली मिर्जा की बेगम फातिमा उर्फ फत्तो (फारूक जफर) की है.  और नौकरों के साथ रहते हैं। यह हवेली जर्जर हालत में है, जिसमें कई परिवार रहते हैं जो औसतन 30-70 रुपये किराया देते हैं। इन्ही किरायेदारों में से एक है बांके रस्तोगी (आयुष्मान खुराना) जिसका हमेशा मिर्जा से झगड़ा होता है और एक दूसरे पर तंज कसते रहते हैं। बांके और उसके परिवार समय से घर का किराया नहीं देता और मिर्जा को परेशान करता है वहीं दूसरी तरफ मिर्जा उसे घर से निकालने के लिए हर कोशिश करता है। 

इस बीच पुरातत्व विभाग का एक अफसर मिस्टर ज्ञानेश मिश्रा की एंट्री होती है और उसे लगता है कि यह हवेली राष्ट्रीय विरासत संपत्ति बनने की क्षमता रखती है। उधर बांके भी एक बिल्डर क्रिस्टोफर क्लार्क को ले आता है जिसके बाद हवेली को लेकर लड़ाई शुरू हो जाती है। इस दौरान कई मजेदार और मनोरंजक दृश्य व संवाद आते हैं। फ़िल्म का अंत भी एक दिलचस्प मोड़ पर आकर समाप्त होता है । वो हवेली किसको मिलती है ?? 

शूजित सरकार ने फिल्म के हर सीन को अच्छी तरह फिल्माया है। फिल्म में अमिताभ बच्चन ने बेहतरीन काम किया है और अपने रोल को बखूबी निभाया है और एक बार फिर साबित कर दिया कि वो अभिनय के क्षेत्र में ' युग पुरूष ' हैं । फिल्म में आयुष्मान भी अपनी दमदार एक्टिंग और किरदार से दिल जीतने में कामयाब रहे। लेकिन फत्तो की भूमिका में ' फारूक जफर ने अपने किरदार में प्राण फूंक दिए ।

-डॉ निरुपमा वर्मा, के फ़ेसबुक वाल से ..