कौन हैं पीसीएस 2017 टाॅपर अमित शुक्ला, क्यों छोड़ी थी उन्होंने कॉमर्शियल टैक्स अफसर की नौकरी, पढें

Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
12th October, 2019, Edited by manish shukla

इलाहाबाद / प्रयागराज : उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग ने पीसीएस 2017 का फाइनल रिजल्ट जारी कर दिया है। मूलरूप से प्रतापगढ के रहने वाले व मौजूदा समय में प्रयागराज में रह रहे अमित शुक्ला ने इस महत्वाकांक्षी परीक्षा को टॉप किया है। इससे पहले भी अमित शुक्ला ने पीसीएस परीक्षा क्वालीफाई की थी, लेकिन तब उन्हें कॉमर्शियल टैक्स अफसर की नौकरी मिली थी। अमित ने इस नौकरी को ज्वाइन नहीं किया और अपनी तैयारी जारी रखी और अब परिणाम पूरे यूपी के सामने है, अमित ने पीसीएस की परीक्षा को टॉप कर नया कीर्तिमान रचा है।

अमित का का परिचय  
अमित शुक्ला, यह नाम आज पूरे यूपी में चर्चा का विषय है और हो भी क्यों न प्रदेश की सबसे बड़ी परीक्षा उन्होंने टॉप की है। अमित शुक्ला मूलत: कुंडा, प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं । यह वही इलाका है जो बाहुबली राजा भैया की वजह से हमेशा चर्चा में रहता है। इसी इलाके के एक छोटे से गांव किलहनापुर के रहने वाले अमित अपने माता पिता व भाई के साथ मौजूदा समय में भुलई का पूरा प्रयागराज में रहते हैं। एक सामान्य मध्यवर्गीय परिवार से तालुक्क रखने वाले अमित के  पिता उमाकांत शुक्ला प्रयागराज के दरभंगा कॉलोनी स्थित एक डायग्नोस्टिक सेंटर में मैनेजर हैं और मां क्षमा शुक्ला गृहणी हैं। दो भाईयों में अमित बडे हैं, छोटा भाई सुमित इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एलएलबी अंतिम वर्ष का छात्र हैं।

पहले छोड़ी प्राइवेट नौकरी
अमित की शुरूआती शिक्षा फाफामउ स्थित गंगा गुरुकुलम कालेज से हुई है। अमित ने दसवीं की परीक्षा 81 फीसदी और बारहवीं की परीक्षा 84 फीसदी अंकों के साथ उत्तीर्ण की। इसके बाद वर्ष इंजीनियरिंग की पढाई के लिये भोपाल चले गये और 2014 में एनआईटी भोपाल से मैकेनिकल में बीटेक किया। इंजीनियर बनने के बाद अमित ने कुछ दिनों तक एक निजी कंपनी में नौकरी की, लेकिन नौकरी से संतुष्ट न होने के बाद उन्होंने सिविल सेवा में जाने का निर्णय लिया और नौकरी छोड़ दी । अमित ने सिविल की तैयारी के लिये दिल्ली का रूख किया और वहीं से तैयारी शुरू की। तैयारी होने के बाद वह प्रयागराज चले आये और यही खुद को अपडेट रखते हुये सिविल की परीक्षा में बैठने लगे और पीसीएस-2015 एवं पीसीएस-2016 में भी शामिल हुए । 2015 के मेंस में सफलता नहीं मिली लेकिन, पीसीएस 2016 में वाणिज्य कर अधिकारी के पद पर उनका चयन हो गया। पर अमित ने इस पद पर ज्वाइनिंग नहीं की और अपने तीसरे प्रयास में उन्होंने पीसीएस में टॉप किया है।

हर रोज पढ़ते हैं कॉमिक्स
पीसीएस टॉपर अमित शुक्ला को कॉमिक्स पढ़ना बहुत पसंद हैं। आज युवा पीढी जब मोबाइल इंटरनेट के आगे सबकुछ भूल चुकी है, ऐसे में अमित इससे जुड़ाव उनके अलग व्यक्तित्व की खुद ही कहानी कहता है। अमित कहते हैैं कि फुरसत के वक्त वह क्रिकेट के पुराने मैच या कॉमिक्स पढ़ते हैं। अमित के पास लैपटॉप में राज कॉमिक्स का कलेक्शन है और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी से कुछ वक्त निकालकर चाचा चौधरी, बिल्लू, पिंकी, नागराज जैसे करेक्टर को जरूर पढ़ते हैं। अमित को क्रिकेट देखना भी पसंद है और खासतौर पर पुराने मैच।

टॉपर की सलाह
अमित अपनी कामयाबी का राज और युवाओं को सफलता के सूत्र बताते हुये कहते हैं कि परीक्षा की तैयारी घड़ी देखकर नहीं करनी चाहिए। जरूरी नहीं कि आप हर रोज आठ से दस घंटे तक पढ़ें, बल्कि एक दिन, एक सप्ताह या एक माह का लक्ष्य लेकर चलें और उसे पूरा करें। अमित बताते हैं कि हर तीन दिन का लक्ष्य निर्धारित करते हैं और इसके बाद आधे दिन का ब्रेक लेते हैं। फुरसत के वक्त वह अपनी पसंद की चीजें करते हैं, जैसे क्रिकेट के पुराने मैच देखना या कॉमिक्स पढ़ना।

अंग्रेजी माध्यम से दी परीक्षा
अमित की शुरूआती शिक्षा अंग्रेजी माध्यम से हुई है और उन्होंने पीसीएस के लिये भी इसी माध्यम को चुना। जबकि आप्सनल के लिये समाजकार्य और भूगोल विषय को चुना था। अमित कहते है कि माध्यम मायने नहीं रखता। सही चीज पढ़ने की जरूरत है। अभ्यर्थियों को इंटरनेट पर अपूर्ण जानकारी देने वाली बेवबसाइटों से बचना चाहिये और राज्यसभा टीवी जैसी आधिकारिक वेबसाइट व एजुकेशनल वेबसाइट पर भरोसा करना चाहिये। छात्र अपना मूल्यांकन खुद करें और अपनी कमी को खुद ही दूर करें।