हिंदी पखवाड़े पर रचनाकारों को मिला भाषा शिरोमणि और राजभाषा गौरव सम्मान

Slider 1
« »
2nd October, 2020, Edited by Shikha singh

फीचर्स डेस्क। काव्य मंजरी साहित्यिक मंच (रजि) ने 14 से 28 सितंबर 2020 तक ऑनलाइन हिंदी पखवाड़े का आयोजन किया जिसका प्रारंभ 14 सितंबर को हिंदी दिवस पर काव्य गोष्ठी से हुआ। काव्य गोष्ठी के बाद 15 से 27 सितंबर तक विभिन्न प्रतियोगिताएं (हास्य काव्य सृजन, मुहावरा कहानी लेखन, नव रस काव्य सृजन, शब्द से शब्द भाव से भाव काव्य सृजन, शब्द-सीढ़ी काव्य सृजन, त्वरित तुकबंदी, वर्ण आवृत्ति काव्य सृजन, लघुकथा लेखन, शब्द-युग्म काव्य सृजन, काव्य संवाद सृजन, भाषण लेखन, काव्य पाक विधि सृजन एवं नारा लेखन) रखी गई जिसमें सभी ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। निर्णायक मण्डल (डॉ अनीश गर्ग, नेहा शर्मा, पदमा शर्मा, विजय कनौजिया, डॉ मीनाक्षी सुकुमारन) ने प्रतियोगिता का निष्पक्ष निर्णय   दिया और मंच की संस्थापिका एवं राष्ट्रीय अध्यक्षा डॉ नीरजा मेहता 'कमलिनी' द्वारा विजेताओं को "भाषा शिरोमणि सम्मान" और सराहनीय रचनाकारों को "राजभाषा गौरव सम्मान" से अलंकृत किया गया। 

इसके साथ ही मंच के दैनिक आयोजनों के आधार पर जुलाई से सितंबर माह के त्रैमासिक सम्मान (डॉ अनीश गर्ग और श्री एम एल अरोड़ा को श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान, विजय कनौजिया और शशि कान्त 'अनमोल' को श्रेष्ठ समीक्षक सम्मान तथा आभा मुकेश साहनी और नीरू मित्तल 'नीर' को सक्रिय रचनाकार सम्मान) भी दिए गए। ऑस्ट्रेलिया से निरंतर सहभागिता के लिए तथा मंच को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुँचाने के लिए मंच की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुश्री नेहा शर्मा 'नेह' को "साहित्य रत्न सम्मान" से नवाज़ा गया। मंच की राष्ट्रीय महासचिव सुश्री पदमा शर्मा 'आँचल' को तकनीकी सहयोग के लिए आभार-पत्र देकर उनका धन्यवाद किया गया। 

मंच की संस्थापिका एवं राष्ट्रीय अध्यक्षा डॉ नीरजा मेहता 'कमलिनी' ने अपने वक्तव्य में समस्त रचनाकारों की सक्रियता और सृजनता के लिए उनको बधाई दी और उनका उत्साहवर्द्धन किया तथा ये भी कहा कि इसी तरह के आयोजन भविष्य में होते रहेंगे और प्रदेश प्रभारियों की नियुक्ति भी की जाएगी जिससे मंच को शिखर पर ले जाया जा सके। उन्होंने मंच के पदाधिकारियों को धन्यवाद दिया।