तेरे नैनों की भाषा...

Slider 1
« »
18th November, 2019, Edited by Focus24 team

आप  के  नैन हमसे यूँ मिलते नहीं,

होते हमको कभी यार शिकवे नहींl

चैन  से  जी  रहे  थे  ग़मों  के  बिना,

हम मुहब्बत कभी तुमसे करते नहींl

तेरे नैनों की भाषा  पढ़ी  हमने जब,

पाँव तब से ज़मीं पर ही पड़ते नहींl

देखकर  आईना  हम  भी  हैरान  हैं,

तू ही आती नज़र हम ही दिखते नहींl

क्या ख़बर थी कि तुम पास आ जाओगे,

हम   इशारों  से  आगे  ही  बढ़ते  नहींl

अजनबी  आज  महबूब  बन  बैठा  है,

इश्क  होता  न  ग़र  यूँ  तड़पते  नहींl

दिल  भी  मेरा  मुझे अब ये कहने लगा,

प्यार  करके  मलिक  पीछे हटते नहींl

इनपुट सोर्स : नरेश मलिक, नई दिल्ली।