क्लैट में अब नहीं पूछे जाएंगे लीगल एप्टिट्यूट के प्रश्न

Slider 1
« »
26th November, 2019, Edited by Focus24 team

एजुकेशन डेस्क। देश की लॉ यूनिवर्सिटीज में प्रवेश की राह आसान हो गई है। बेंगलुरू में हुई कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज की बैठक में तय हआ है कि कॉमन लॉ एंट्रेंस टेस्ट (क्लैट) में लीगल एप्टिट्यूट से जुड़े प्रश्न नहीं पूछे जाएंगे।

वहीं जीके में भी सिर्फ करंट अफेयर से जुड़े प्रश्न आएंगे। अगली बार से क्वांटिटेटिव टेक्निक्स, इंग्लिश, करंट अफेयर्स, डिडक्टिव रीजनिंग व लॉजिकल रीजनिंग से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे। 21 लॉ यूनिवर्सिटी में प्रवेश के लिए क्लैट 10 मई 2020 को होगी। क्लैट विशेषज्ञ सागर जोशी ने बताया कि स्कूली स्तर पर लीगल पढ़ाया नहीं जाता। इसलिए इस विषय को समझने में परेशानी होती है। इसी को ध्यान में रखते हुए इसे हटाया गया है। वहीं अब क्लैट के दौरान 120 मिनट में 120 से 150 प्रश्न पूछे जाएंगे। अभी तक 120 मिनट में 200 सवाल करने होते थे। अब से यह टेस्ट भी ऑफलाइन होगा। यह बैठक कंसोर्टियम के अध्यक्ष व नलसार यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ के कुलपति प्रो. फैजान मुस्तफा की अध्यक्षता में हुई। इसमें भोपाल के एनएलआईयू के कुलपति प्रो. वी विजयकुमार को नया अध्यक्ष चुना गया।