कोरोना से डाक्टरों पर अजीब असर, बदल गया त्वचा का रंग

Slider 1
« »
22nd April, 2020, Edited by Focus24 team

वर्ल्ड डेस्क । चीन में कोरोना वायरस से एक बेहद ही चौकाने वाली रहस्मय खबर सामने आई  है। कोरोना से दो डाक्टरों पर अजीब असर हुआ है। इन्हे स्किन का रंग ही बदल गया है। इनकी चमड़ी काली पड़ रही है। डाक्टर इस परिवर्तन से बेहद ही परेशान हैं और इसे  हार्मोन में बदलाव के तौर पर देख रहे हैं। चीनी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक डॉ यी फैन और डॉ हु वाइफैंग नाम के दो डाक्टर इस अजीब असर की चपेट में आये हैं। सबसे खास बात की दोनों डॉक्टर के लिवर खराब हो गए और उसके बाद उनकी त्वचा पर अजीब असर हुआ है। फिलहाल कोराना पॉजिटिव होने के बाद इन्हें इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती किया गया था। एक जरूरी बात कि डॉक्टर हू वाइफैंग  कोरोना संक्रमण की जानकारी देने वाली टीम के सदस्य रहे हैं।

18 जनवरी को हुये थे भर्ती 

चीनी रिपोर्ट के अनुसार डॉ. यी फैन और हु वाइफैंग को कोराना पॉजिटिव होने पर 18 जनवरी को अस्पताल में भर्ती किया गया था। जिसके बाद इनका इलाज शुरू हुआ। इसमें से यी फैन एक हृदयरोग विशेषज्ञ हैं और उन्होंने 39 दिनों में कोरोना को मात दे दी थी। हालांकि वह वेंटीलेटर पर रहे और बहुत मुश्किल से उनकी जान बच सकी। वहीं, उन्हें अब सामान्य वार्ड में हैं। लेकिन अभी भी डॉ. हु वाइफैंग की हालत बहुत बेहतर नहीं है। 

99 दिन से बिस्तर पर 

मीडिया में छपी खबर के अनुसार डॉ. हु पिछले 99 दिन से ही बिस्तर पर हैं। वह यूरोलॉजिस्ट हैं अस्पताल में भर्ती हैं। उनकी त्वचा का भी रंग बदल गया है और ऐसा क्यों हुआ अभी यह पता नहीं चला है। 

क्या कह रहे डाक्टर 

डाक्टरों की त्वचा का रंग बदलने के पीछे यहां के डाक्टर अभी किसी खास व ठोस नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं। लेकिन उनका मानना है कि हो सकता है कि इलाज के शुरुआत में दी जाने वाली दवाइयों की वजह से यह हुआ हो और उनका रंग काला पड़ा है। फिलहाल उम्मीद है कि दोनों डॉक्टर के लिवर ठीक हो जायेगा और उसके साथ ही उनकी त्वचा का रंग भी ठीक हो जाएगा।