कोरोना इफेक्ट / वर्क फ्रॉम होम की मांग बढ़ी, कम सैलरी पर भी काम करने को तैयार

Slider 1
« »
25th May, 2020, Edited by Focus24 team

नई दिल्ली। कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा है। इस कारण अधिकांश कंपनियों अपने कर्मचारियों से वर्क फ्रॉम होम करवा रही हैं। अब यह वर्क फ्रॉम होम कर्मचारियों को भी भाने लगा है। यही कारण है कि अब लोगों के बीच वर्क फ्रॉम होम पॉपुलर होने लगा है। जॉब साइट इंडीड की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फरवरी से मई के दौरान देश में 'रिमोट वर्क' (दूर रह कर ऑफिस का काम) वाली नौकरियों की 'सर्च' में 377 फीसदी का इजाफा हुआ है।

रिमोट से काम करने की चाह रखने वालों की संख्या बढ़ी

रिपोर्ट में कहा गया है कि अब जॉब पोर्टल पर नौकरी तलाश करने वाले लोग अब रिमोट से काम करने के अधिक इच्छुक हैं। इस कारण से नौकरी की सर्च के दौरान 'रिमोट', वर्क फ्रॉम होम और इसी तरह के अन्य शब्दों का चलन तेजी से बढ़ा है। इसी तरह रिमोट वर्क और घर से काम यानी वर्क फ्रॉम होम के लिए नौकरियों में 168 फीसदी की वृद्धि देखने को मिली है। इंडीड इंडिया के प्रबंध निदेशक शशि कुमार ने कहा कि कोविड-19 ने बहुत से लोगों के काम करने के तरीके को बदल दिया है। रिमोट वर्क की ओर लोगों का तेजी से झुकाव बढ़ा है। अभी इसके जारी रहने की उम्मीद है।

कम वेतन के लिए भी तैयार हैं लोग

रिपोर्ट के मुताबिक, नौकरी की तलाश के दौरान 83 फीसदी लोग रिमोट वर्क नीति को महत्वपूर्ण मानते हैं। वहीं, 53 फीसदी कर्मचारियों का कहना है कि यदि उन्हें रिमोट से काम का विकल्प उपलब्ध कराया जाता है तो वे वेतन में कटौती के लिए भी तैयार हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि 56 फीसदी कर्मचारी और 83 फीसदी नियोक्ताओं का मानना है कि काम के घंटों में लचीलापन उत्पादकता को बढ़ाने में मददगार हो सकता है।