coronavirus: संक्रमण के 21 दिन बाद तक आंखों में रह सकता है वायरस

Slider 1
« »
26th April, 2020, Edited by Focus24 team

हेल्थ डेस्क । कोरोना वायरस को लेकर वैज्ञानिकों ने चौकाने वाला  खुलासा किया है। इस खुलासे में बताया गया है कि संक्रमण के 21 दिन बाद तक आंखों में कोरोना वायरस रह सकता है । इस बावत इटली के नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर इन्फेक्शियस डिसीज के वैज्ञानिकों ने  शोध किया है और उसके बाद यह जानकारी मीडिया के साथ साझा की है। शोधकर्ताओं ने अपने शोध में इटली की एक 65 वर्षीय महिला पर गहन जांच पड़ताल की थी। वैज्ञानिकों ने बताया कि यह महिला चीन के वुहान से लौटी थी, लेकिन आश्चर्य जनक ढंग से इसके नाक के स्वैब में वायरस नहीं था । लेकिन जब आंखों  से फ्ल्यूड निकालकर उसकी जांच की गयी तो पता चला कोरोना वायरस आंख में छिपा है और जांच में लगातार 21 दिन तक वह मिलता रहा। 

आंख लाल हो तब भी सावधान 

वैज्ञानिकों के अनुसार अगर आपकी आंखों में तकलीफ है तो यह जरूरी नहीं कि सामान्य घटना है। क्योंकि आंखों के लाल होने का कारण कोरोना वायरस भी हो सकता है। इटली की 65 वर्षीय महिला की चीन से लौटने के बाद एक ही दिन में इतनी ज्यादा हालात खराब हो गयी कि उसे अस्पताल ले जाना पडा और जब जांच हुई तो पता चला कि महिला की आंखे सामान्य नहीं है और उसमें लालिमा है। इसके बाद महिला को बुखार हुआ और उसकी आंखे और अधिक लाल हो गयी। वैज्ञानिकों ने आंखों के डाक्टरों को सावधान रहने के लिये कहा है। 

आश्चर्य हुआ था 

महिला के इलाज में जुटे डाक्टरों को उस वक्त बहुत ही आश्चर्य हुआ जब नाक के स्वैब का टेस्ट हुआ और उसमें कोराना वायरस नहीं था। लेकिन जब आखों को लेकर वैज्ञानिकों ने सर्तकता और जांच शुरू की तो सबकुछ सामान्य नहीं दिखा। महिला के खों से फ्ल्यूड निकालकर उसकी जांच की गयी तो पता चला कोराना वहीं पर है। इसके बाद हर रोज महिला के आंखों से फ्ल्यूड निकालकर उसकी जांच की जाती रही। 21 दिनों तक वायरस आंख में ही रहा। 

आंसू में भी वायरस 

इटली के शोधकर्ताओं ने अपने शोध का प्रकाश  एनल्स ऑफ इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित करवाया है। जिसमें बताया है कि वायरस आंखों के फ्ल्यूड में अपनी प्रतिलिपियां बनाने में सक्षम है और वह ऐसा ही कर रहा है। इस शोध में यह तथ्य भी सामने आया है कि आंखों के म्यूकस और आंसुओं में भी वायरस रहता है, जो बेहद ही आसानी के साथ दूसरों को संक्रमित करने में सक्षम है। 

रहे सावधान 

अगर आपकी आखें भी गुलाबी रंग की दिख रही हो तो सावधान होने की जरूरत है। क्योंकि यह कोरोना के ही लक्षण है। हालांकि इसमे सबसे पहले बुखार आता है, जो इतना हल्का होता है कि लोग उसे इग्नोर कर देते हैं। लेकिन बुखार के साथ आंखों का रंग बदलता है और वह हल्की गुलाबी दिखती हैं।