आईएसएल 7 : 10 खिलाड़ियों के साथ ईस्ट बंगाल ने चेन्नइयन को गोलरहित ड्रॉ पर रोका

Slider 1
« »
19th January, 2021, Edited by Focus24 team

गोवा। एससी ईस्ट बंगाल ने पहले हाफ से ही 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रहे होने के बावजूद सोमवार को बोम्बोलिम के जीएमसी स्टेडियम में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन के मुकाबले में दो बार की चैम्पियन चेन्नइयन एफसी को गोलरहित ड्रॉ पर रोक दिया। चेन्नइयन का इस सीजन में 12 मैचों में यह छठा ड्रॉ है और टीम अब 15 अंकों के साथ तालिका में छठे नंबर पर है। 

ईस्ट बंगाल को भी इतने ही मैचों में इतना ही ड्रॉ खेलना पड़ा है और वह 12 अंकों के साथ नौवें स्थान पर कायम है। जीएमसी स्टेडियम में सीजन का अपना तीसरा मैच खेलने उतरी ईस्ट बंगाल के लिए पहला हाफ सही नहीं रहा। 22वें मिनट में उसके मिडफील्डर अजय छेत्री को येलो कार्ड दिखाया गया। छेत्री को चेन्नइयन के अनिरुद्ध थापा को गिराने के कारण येलो कार्ड दिया गया। नौ मिनट बाद छेत्री ने फिर से उसी खिलाड़ी के खिलाफ वही गलती दोहराई। आईएसएल में ईस्ट बंगाल के लिए मात्र दूसरा ही मैच खेल रहे छेत्री को 31वें मिनट में थापा को एक बार फिर से गलत तरीके से फाउल करने के कारण मैच का दूसरा येलो कार्ड थमाया गया, जोकि रेड कार्ड में तब्दील हो गया और छेत्री को मैदान से बाहर जाना पड़ा। 

छेत्री को रेड कार्ड मिलने के बाद ईस्ट बंगाल को अपने 10 खिलाड़ियों के साथ ही मैच को आगे जारी रखना पड़ा। ईस्ट बंगाल के एक खिलाड़ी कम होने के बाद चेन्नइयन ने अपने हमले तेज कर दिए। 43वें मिनट में थापा और फिर एली साबिया चेन्नइयन का खाता खोलने का मौका गंवा बैठे और दो बार की चैम्पियन पहले हाफ में बढ़त हासिल नहीं कर पाई। चेन्नइयन दूसरे हाफ में एक बदलाव के साथ मैदान पर उतरी। 51वें मिनट में ईस्ट बंगाल के पास मैच में बढ़त लेने का शानदार मौका था, लेकिन एंथोनी पिल्किंगटन बॉल को टारगेट पर नहीं रख सके। उधर चेन्नइयन ने भी ईस्ट बंगाल पर दबाव बनाना जारी रखा और इसी प्रयास में 57वें मिनट में इडविन वेंसपॉल ने इस्मा के असिस्ट पर बॉक्स के बाहर से एक शॉट लगाया, जिसे बेहतरीन तरीके से सेव कर लिया गया। 

 67वें मिनट में चेन्नइयन के सिपोविच चोटिल हो गए और उनकी जगह दीपक खेलने उतरे। 72वें मिनट में पिल्किंगटन एक बार फिर से मौका चूक गए और उनका शॉट वाइड निकल गया। 88वें मिनट में पिल्किंगटन एक बार फिर से फ्रीकिक पर ईस्ट बंगाल का खाता नहीं खोल पाए। निर्धारित समय तक भी दोनों ही टीमें बढ़त हासिल नहीं कर पाई और फिर मुकाबला इंजुरी टाइम में चला गया, जहां चार मिनट का अतिरिक्त समय जोड़ा गया। इंजुरी टाइम में भी चेन्नइयन गोल नहीं दाग पाई और ईस्ट बंगाल ने 10 खिलाड़ियों से खेलने के बावजूद उसे गोलरहित ड्रॉ पर थाम दिया।