दांतों के स्वस्थ पर पड़ रहा फ़ास्ट फ़ूड का प्रभाव

Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
8th January, 2020, Edited by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। अगर दांत अच्छे  हो तो हमारी मुस्कुराहट में भी आकर्षक आ जाता हैं। दांत हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। कुछ भी खाने के लिए दातों का स्वस्थ होना बहुत ही आवश्यक है, लेकिन अगर आप दांतों की भली-भांति देखभाल नहीं करेंगे तो इन्हें खराब होने में वक्त नहीं लगेगा।  इस समय लोगों में दाँतो मे सड़न, मुँह से बदबू और पायरिया, दांतों की प्रमुख समस्या के रूप में सामने आ रही हैं। दांतों  को स्वस्थ रखने के लिए दांतों और मुंह की सफाई जितनी जरूरी है उतना ही जरूरी है की हम अपने खान पान और खाने की आदत  का भी ध्यान दे। आजकल लोगों ने कोल्ड ड्रिंक और जंक फूड को अपने खाने पीने का एक हिस्सा बना लिया है जबकि सालो पहले  लोग नट्स, कच्चे फलों और हरी सब्जियों का अत्यधिक सेवन करते थे। दाँतो की सड़न बदबू व पायरिया में खानपान का तरीका प्रमुख वजह होती हैं। 

फ़ास्ट फ़ूड 

सबसे पहले खानपान मे बच्चों और बड़ों, दोनों को ही पिज्जा या चीजयुक्त चिपचिपे भोजन से बचना चाहिए जो  खाने से दांतों में चिपक जाती हैं। इन्हें छुड़ाना मुश्किल हो जाता है। इनको ज्यादा खाने से दांतों में दिक्कत आ जाती है और दांत कमजोर पड़ जाते हैं। इसके बाद वे पीले पड़ने लगते हैं और धीरे-धीरे सड़ने लगते हैं।

कॉफी से बचें

अगर आप ज्यादा कॉफी पीते हैं तो इससे दांत कमजोर और खोखले होने लगते हैं  क्योकि काफी अम्लीय  नेचर का होता और  लगातार ज्यादा मात्रा में पीने से दंतो मे  एक पर्त बन जाती है। जिससे दांतों में पीलापन की समस्या आ जाती है। चॉकलेट और कैन्डी ज्यादा  चॉकलेट और कैंडी भी दांतों के लिये नुकसान दायक होती है क्योकि इसको इसमें कार्बोहाइड्रेट होता जो कि दांत की सतह पर चिपक कर एक परत बना देता है जो कि सड़न के लिए जिम्मेदार जीवाणु के लिए उपयुक्त जगह होती है। 

वाइट ब्रेड

वाइट ब्रेड  सादा खाना भी आपके दांतो के लिए हानिकारक है।क्योंकि  यह मैदे से बनाया जाता है जिसकारण यह दांतों में चिपक जाता है और जल्दी निकल नही पाता जिससे ये दांत को  काफी नुकसान पहुंचता है।

कोल्ड ड्रिंक

कोल्डड्रिंक के ज्यादा सेवन  भी आपके दाँतो  के स्वास्थ्य के लिहाज से अच्छा नहीं है। कोल्ड ड्रिंक्स में बहुत ज्यादा शुगर और कार्बोनेटेड पानी से बनाया जाता है। इस कारण यह भी ऐसीटिक होते हैं जिससे दांत के परत पर बुरा असर पड़ता है 

चिप्स

पैकेटबंद चिप्स में ढेर सारा स्टार्च होता है। जब आप इसे खाते हैं तो इसके काण दांत के बीच में मौजूद जगहों में चिपक जाते हैं। स्टार्च बैक्टीरिया के लिए सबसे अच्छा भोजन होता है।और इनको नुकसान पहुँचता हैं

बचाव 

विटामिन बी-12, विटामिन-सी, कैल्शियम और विटामिन-डी के लिये बहुत जरूरी है  दांत से संबंधित लगभग सभी बीमारियों में इनका खास योगदान है।  विटामिन-डी और कैल्शियम की कमी से दाँतो मे सड़न की समस्या बढ़ जाती है।  वहीं विटामिन-सी की कमी के कारण मसूढ़ों से संबंधित समस्या होने लगती है।  खानपान में संतरा, नींबू, आंवला आदि विटामिन-सी युक्त फलों और सब्जियों को सेवन जरूर किया करे। आजकल फलों को चाकू से काटकर खाने का चलन बढ़ा है। जबकि फाइबरयुक्त फलों को दांत से काटकर खाने से मसूढ़ों की मालिश हो जाती है और  दांतों में गंदगी नहीं जमती और सड़न और पायरिया समेत दांतों की अन्य बीमारियों से भी बचाव होता है। 

-डॉ. प्रसून दीप, दीप डेंटल क्लिनिक एंड फिजियोथेरेपी सेन्टर, वाराणसी।