ऐसे बनाए सिंघाड़े के आटे की स्वादिष्ट और पौष्टिक पंजीरी

सिंघाड़ा गुणों की खान हैं। इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम, विटामिन ए , सी व मैगनीज़ पाया जाता है। सिंघाड़ा गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद है ये पीलिया, अस्थमा, पाचन संबंधी रोगों में भी बहुत लाभदायक है...

ऐसे बनाए सिंघाड़े के आटे की स्वादिष्ट और पौष्टिक पंजीरी

फीचर्स डेस्क। सिंघाड़े के आटे की पंजीरी स्वादिष्ट और पौष्टिक पंजीरी आप इसे व्रत के साथ साथ रोज़मर्रा में भी खा सकती हैं। दरअसल, सिंघाड़ा गुणों की खान हैं। इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम, विटामिन ए , सी व मैगनीज़ पाया जाता है। सिंघाड़ा गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद है ये पीलिया, अस्थमा, पाचन संबंधी रोगों में भी बहुत लाभदायक है।

इसके लिए सामग्री

2 कटोरी सिंघाड़े का आटा

1/2 कटोरी बूरा या गुड़ की खांड

1/2 छोटा चम्मच इलायची पाउडर

3 /4 कटोरी घी

1/2 कटोरी कटे हुए काजू व बादाम

2 चम्मच मगज़

2 चम्मच चिरौंजी

1 बड़ा चम्मच किशमिश

1/2 छोटा चम्मच सौठ

1/2  छोटी चम्मच दालचीनी पाउडर

देखें इसको बनाने की विधि

पैन में घी डालकर काजू व बादाम तल लें अब इन्हें अलग रखें बचे घी में सिंघाड़े का आटा डालकर धीमी आंच पर गुलाबी भूने। अब इसमें भूनते समय बीच में इलायची पाउडर,दालचीनी पाउडर व सोंठ को मिलाए अब इसे ठंडा करें। ठंडा होने पर इसमें बूरा या खांड को अच्छी तरह मिलाए और साथ साथ सभी मेवे भी मिलाए तैयार पंजीरी को आप स्टोर करकें भी रख सकते हैं।

नोट :-  दालचीनी ,सोंठ को अलग करकें आप इस  पंजीरी को व्रत में भी खा सकती हैं।