भारतीय रेलवे का आधुनिक भविष्य कमलापति रेलवे स्टेशन पर दिखेगा - मोदी

भारतीय रेलवे का आधुनिक भविष्य कमलापति रेलवे स्टेशन पर दिखेगा - मोदी

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अत्याधुनिक ढांचागत सुविधाओं (इंफ्रास्ट्रक्चर) को देश की आवश्यकता निरुपित करते हुए आज कहा कि भारतीय रेलवे भी इस दिशा में आगे बढ़ रही है और रेलवे का भविष्य रानी कमलापति रेलवे स्टेशन पर देखने को मिलेगा। मोदी ने यहां निजी सरकारी भागीदारी (पीपीपी) योजना के तहत पुनर्विकसित रानी कमलापति रेलवे स्टेशन के लोकार्पण और कुछ अन्य रेलवे योजनाओं की शुरूआत के मौके पर अपने संबोधन में यह बात कही। अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित इस रेलवे स्टेशन (पूर्व नाम हबीबगंज) परिसर में आयोजित समारोह में राज्यपाल मंगुभाई पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव भी मौजूद थे।

मोदी ने अपने लगभग 22 मिनट के संबोधन में कहा कि लगभग छह सालों पहले तक रेलवे का नाम आते ही लोगों के मन में जो तस्वीर उभरकर सामने आती थी, वह गंदे प्लेटफार्म तथा ट्रेन के डिब्बे और सुरक्षा की चिंता को लेकर रहती थी। लोग इतने हताश हो चुके थे कि वे सकारात्मक परिवर्तन को लेकर नाउम्मीद हो चुके थे। लेकिन हमारी सरकार ने रेलवे में अत्याधुनिक सुविधाओं और ढांचागत सुविधाओं के विकास पर जोर दिया और रेलवे की टीम ने इस दिशा में काम करके भी दिखा दिया। इस तरह देश का पहला इस तरह का आधुनिक स्टेशन भोपाल में तैयार हो गया, जो एयरपोर्ट की तरह होगा और इसमें मनोरंजन और सुरक्षा से लेकर सभी सुविधाएं होंगी। इस तरह के देश में अन्य स्टेशन भी विकसित किए जाएंगे। मोदी ने कहा कि इसके अलावा आज का दिन इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि जनजातीय गौरव दिवस के अवसर पर इस स्टेशन का नाम इस अंचल की प्रसिद्ध रानी कमलापति के नाम पर रानी कमलापति रेलवे स्टेशन किया गया है। इससे इस स्टेशन का महत्व और बढ़ जाता है। श्री मोदी ने इस अंचल की अन्य परियोजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि इनके कारण रेलवे के यातायात पर दबाव कम होगा। खासतौर से इंदौर और उज्जैन क्षेत्र में यात्रियों को यात्रा करने में काफी सुविधाएं होंगी।