Breaking News

पब्लिक प्लेटफॉर्म

Mother's Day Special: सास में देखा मां का रूप

सास भी होती है मां , मेरी एक नहीं दो माएं है, ये जाना मैंने अपनी शादी के बाद।

प्रारब्ध: जैसा करोगे वैसा भरोगे...

एक बेटे की चाह इंसान से क्या क्या नहीं करवा देती। जबकि सच तो ये है कि बेटियां मां के दर्द को समझती है।

धरती माँ कह रही पुकार के,तुम भी उसको सुनो ना

"कोई है बाहर ? दरवाजा खोलो जल्दी, यहाँ बहुत अंधेरा है " मैं जोर जोर से दरवाजा खटखटा रहा था कमरे में धुप्प अंधेरा था, शायद मैं अकेला...

कोहिनूर:खजाना यादों का

अंदर आ,सोफे पर बैठ ,मैने बहुत संकोच के साथ कहा"याद है,करीब छह,सात,महिने पहिले तुम और भाभी जी मेरे घर आये थे।भाभी जी , शरत चंद का उपन्यास...

एकांतवास: कितना कठिन है ये अहसास

चाहे आप कितने भी ऊंचे पद पर क्यों न पहुंच जाए। हमेशा एक बात याद रखना आज आप जो भी माता पिता की वजह से है। उनको कभी अकेला न होने देना।...

सात फेरे: सातों वचन साथ निभाऊंगी तेरे

सात फेरे लेना यानी विवाह बंधन में बंध जाना। कई सवाल, कई उलझनें मन में हिलोरे मारती है। पर जीवनसाथी अगर पूजा और चंद्रेश जैसे हो तो...