निमोनिया का संक्रमण बन रहा है घातक : डा त्रिवेदी

निमोनिया का संक्रमण बन रहा है घातक : डा त्रिवेदी

हैल्थ डेस्क। उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में राजकीय मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. अरविंद त्रिवेदी ने कहा कि कोरोना वायरस बहुत ज्यादा घातक प्रकृति का है। इसलिए गंभीर स्तर के निमोनिया का संक्रमण रोगियों के फेफडों पर हो रहा है। उसकी कोई दवा न होने से लोगों का जीवन बचाना बेहद कठिन हो रहा है। एक साल के भीतर दूसरी बार प्राचार्य का कार्यभार संभालने वाले डा. त्रिवेदी ने यूनीवार्ता को बताया कि मेडिकल कालेज के सभी तीन सौ वार्ड भरे हुए है। जबकि गंभीर रोगियों की संख्या कोविड अस्पतालों में उपलब्ध बिस्तरों से ज्यादा है।

जिले में पहली बार एक दिन में सबसे ज्यादा 647 नए संक्रमित सामने आए और 17 लोगों की जान चली गई। सात मौत राजकीय मेडिकल कालेज में हुई। मरने वालो में सात महिला और सात पुरूष है। मंडल के शामली में 278 और मुजफ्फरनगर में 848 नए संक्रमित मिले है।

डा त्रिवेदी का कहना है कि अभी तक किसी भी रोगी को कालेज के बाहर से कोई दवाई अथवा सहायता देने की जरूरत नहीं पडी। कालेज के पास पूरा प्रबंध है। जिला प्रशासन मेडिकल कालेज अस्पताल को जरूरत के मुताबिक आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करा रहे है। सभी सुविधाओं के बावजूद मेडिकल कालेज अस्पताल में उपचाराधीन रोगियों की हालत संतोषजनक नहीं है। वजह अबकी कोरोना घातक प्रवृत्ति का है। रोगियों के पास मेडिकल कालेज में भर्ती होने के अलावा बेहतर विकल्प नहीं है। बिस्तर के गंभीर अभाव के चलते रोगियों के परिजन जीवन का जोखिम लेकर भी सहारनपुर मेडिकल कालेज में ही रोगियों को भर्ती होने दे रहे है।