स्नेहधरा वृद्धाश्रम में बांटा जरूरत का सामान, सुने भजन

बुजुर्गों की सेवा परम सेवा है। उनका अगर आशीर्वाद मिल जाएं तो जीवन में सार्थकता है। आस्था सेवा संस्थान और वर्चस्व वेलफेयर फाउंडेशन ने किया सराहनीय कार्य।

स्नेहधरा वृद्धाश्रम में बांटा जरूरत का सामान, सुने भजन

फीचर्स डेस्क। जो बुजुर्ग किसी कारण वश से वृद्धाश्रम में अपना जीवन व्यतीत करते है ,उनका दर्द बांटने वाला कोई नहीं होता तो वो अकेले हो जाते है। ऐसे में यदि कोई उनका दर्द सुने ,उनके विचार सुने तो इससे बड़ी खुशी बुजुर्गो को और कहीं नहीं मिलती। ऐसी ही खुशी दी है आस्था सेवा संस्थान की संस्थापिका आशा राय,विनोद पांडे और वर्चस्व वेलफेयर फाउंडेशन की संस्थापक प्रतिभा बाल्यान ने।

इन्होंने सिर्फ वृद्धाश्रम जाकर बुजुर्गों के जरूरत का सामान ही नहीं बांटा बल्कि उनको दिया सबसे कीमती तोहफा अपना समय।

आशा राय बताती है कि बुजुर्गों के साथ बैठकर उनसे बातें करके दिल को बहुत सुकून मिला। हमने उनसे कई भजन भी सुनें। और योग के बारे में भी उन्हें जागरूक किया। साथ ही वादा भी किया कि अगली बार जब हम आयेंगे आपसे मिलने तब हम आप सभी को योग का प्रशिक्षण देंगे।

बुजुर्गों से बाते करना बहुत जरूरी है। क्योंकि बातों बातों में जो ज्ञान वो अपने अनुभव से दे जाते है वो आपको किसी पुस्तक में नहीं मिलेगा।

ऐसे ही सराहनीय कार्य करने के लिए आस्था सेवा संस्थान और वर्चस्व वेलफेयर फाउंडेशन हमेशा आगे रहते है। आगे भी आप समाज के उत्थान में अग्रसर रहे यही कामना है।