मुख्यमंत्री योगी अब चुनावी मोड में, कैबिनेट की बैठक कर तय की मंत्रियों की जिम्मेदारी

मुख्यमंत्री योगी अब चुनावी मोड में, कैबिनेट की बैठक कर तय की मंत्रियों की जिम्मेदारी
लखनऊ। दिल्ली से वापस लौटते ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चुनावी मोड में दिखने लगे हैं। कोरोना संकट के कारण कई महीनों से स्थगित कैबिनेट की बैठक सोमवार को बुलाकर सभी मंत्रियों की जिम्मेदारी तय कर दी। बैठक के बाद प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि प्रदेश के सभी मंत्री जून व जुलाई महीने में अपने प्रभार वाले जिलों में प्रवास करेंगे।  श्री सिंह ने बताया कि सरकार और संगठन के समन्वय से प्रदेश भर में 23 जून से 6 जुलाई तक विशेष कार्यक्रम होंगे। इस दौरान पार्टी का सम्पर्क और संवाद कार्यक्रम भी होगा। इन कार्यक्रमों में सभी मंत्रियों की भागीदारी सुनिश्चित होगी। 
 
मंत्री ने बताया कि इस दौरान मंत्रियों को अपने प्रभार वाले जिलों में लगभग हर विकास खंड में प्रवास करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि 21 जून को योग दिवस पर भी प्रदेश भर में विशेष कार्यक्रम होंगे। इसके अलावा 27 जून को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मन की बात भी सभी मंत्री अपने प्रभार वाले जिले में कोरोना प्रोटोकाल के तहत सुनेंगे। 
 
गौरतलब है कि उप्र में अगले साल विधान सभा का चुनाव है। ऐसे में सत्तारुढ़ भाजपा इस समय चुनावी तैयारियों को लेकर रणनीति बनाने में लग गई है। मुख्यमंत्री योगी भी प्रधानमंत्री और पार्टी नेतृत्व से दिल्ली में मिलने के बाद चुनावी मोड में आ गए हैं। शायद इसीलिए आज की कैबिनेट बैठक में उन्होंने राज्य मंत्रियों और स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्रियों को भी बुलाया था। इस दौरान सभी मंत्रियों की जिम्मेदारी तय की गई।