खिलाड़ियों की वापसी की समस्या का सामना कर रही बीसीसीआई और फ्रेंचाइजियां

खिलाड़ियों की वापसी की समस्या का सामना कर रही बीसीसीआई और फ्रेंचाइजियां

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के रद्द होने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और फ्रेंचाइजियां विदेशी खिलाड़ियों की वापसी के प्रबंध को लेकर बड़ी समस्या का सामना कर रही हैं। फ्रेंचाइजियों की ओर से खिलाड़ियों के लिए यात्रा का प्रबंध करना किसी परीक्षा से कम नहीं है। कुछ फ्रेंचाइजियों ने स्वीकार किया है कि यह एक मुश्किल समय है। विदेशी खिलाड़ियों को चार्टर उड़ानों के जरिए वापस भेजने की जरूरत समझते हुए टीमों के सीईओ (मुख्य कार्यकारी अधिकारी) और संचालन प्रबंधक तथा बीसीसीआई उड़ानों को व्यवस्थित करने और उन्हें गंतव्य स्थान तक भेजने के लिए अनुमति प्राप्त करने में अधिक समय लग रहा है।

यह थोड़ा मुश्किल इसलिए हो रहा है, क्योंकि आठ में से चार फ्रेंचाइजियों के कुछ खिलाड़ी कोरोना संक्रमित हैं। जिसकी वजह से कोरोना मुक्त फ्रेंचाइजियों के खिलाड़ी भी यात्रा नहीं कर सकते हैं, जिससे और की जटिलताएं पैदा हो गई हैं। कुछ फ्रेंचाइजी प्रबंधकों ने अपने खिलाड़ियों को वापस भेजने के लिए भारत में हवाई जहाजों की कमी पाई है और जिसके मद्देनजर दुबई से एक निजी विमान किराए पर लेने की योजना भी तैयार की गई थी।

पंजाब किंग्स के अधिकारियों ने कहा, “हम मंगलवार दोपहर से योजना बना रहे हैं और हर आधे घंटे में योजनाएं बदल रही हैं।” सनराइजर्स हैदराबाद के प्रबंधक ने कहा, “ हम अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अभी तक इस पर कुछ स्पष्ट नहीं हुआ है। चौबीस घंटे बीत गए हैं और अभी तक वेस्ट इंडीज और न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों के घर जाने का कार्यक्रम पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है। खिलाड़ियों को घर भेजना शुरू करने के लिए फ्रेंचाइजी ने गो-एयर विमान का प्रबंध किया है, लेकिन हम विशेष रूप से कैरिबियाई देश बारबाडोस के लिए उड़ान को व्यवस्थित करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। ”