वैक्‍सीन पर भ्रम फैला कर लोगों को खतरे में धकेल रहे हैं अखिलेश: सिद्धार्थ नाथ

वैक्‍सीन पर भ्रम फैला कर लोगों को खतरे में धकेल रहे हैं अखिलेश: सिद्धार्थ नाथ

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कबीना मंत्री और सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव वैक्सीन पर भ्रम फैलाकर जनता को खतरे की ओर धकेल रहे हैं। श्री सिंह ने बुधवार को बयान जारी कर कहा कि वैक्‍सीन पर भ्रम फैला कर अभियान को कमजोर करने वाले श्री यादव किस मुंह से वैक्‍सीनेशन की बात कर रहे हैं। वैक्‍सीन पर भ्रम फैला कर यूपी के हजारों लोगों को कोरोना के खतरे में धकेलने वाले श्री अखिलेश यादव सरीखे लोग यूपी की जनता के अपराधी हैं।

अपने पापों का प्रायश्चित करने के बजाय वह बेशर्मी के साथ सियासी ड्रामेबाजी कर रहे हैं। उन्होने कहा “ पहले तो अखिलेश ने वैक्सीन को भाजपा का बताया और इसके बारे में दुष्प्रचार किया। अब ये वैक्सिनेशन के लिए नीति की बात कर रहे हैं। ऐसा दोहरा चरित्र दर्शा कर सपा नेता पहले ही जनता का विश्वास खो चुकी है।”
श्री सिंह ने आरोप लगाया कि सपा ओछी राजनीति करती है इसका उदाहरण यह है कि ये लोग वैक्सीन मुफ्त लगाने की बात करते हैं। क्या उनको मालूम नही है कि 45 वर्ष से ऊपर का वैक्सीनेशन केंद्र सरकार की तरफ से मुफ्त है और 18 से 44 आयुवर्ग के लिए योगी सरकार मुफ्त लगाने की घोषणा कर चुकी है। यही नहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुआई में प्रदेश में वैक्सीन की 1.45 करोड़ खुराक दी जा चुकी हैं और आने वाले समय में वैक्सिनेशन और तेज किया जायेगा।

उन्होने कहा कि एसी कमरे में बैठ कर बयानबाज़ी करने वाले अखिलेश और उनकी चाटुकार मंडली को एक बार जनता के बीच जा कर योगी सरकार के कोविड मैनेजमेंट को देखना चाहिए। घर में बैठ कर कोरी बयानबाजी करने वाले अखिलेश से यूपी का विकास देखा नहीं जा रहा है। पांच साल के कार्यकाल में यूपी को स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षा के लिहाज से गर्त में धकेलने वाली सपा और उसके नेताओं को संकट की इस घड़ी में भी 2022 का चुनाव ही नजर आ रहा है। आज डब्‍ल्‍यूएचओ समेत दुनिया भर में योगी सरकार के कोविड मैनेजमेंट की तारीफ हो रही है। हमने 18 दिन में प्रतिदिन होने वाले कोरोना केस की संख्‍या आधी से भी कम करने में सफलता पाई है। कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 85 फीसदी के आंकड़े को पार कर गया है, जो किसी भी राज्‍य से बेहतर है।
सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि कमरे में बैठ कोरी बयानबाजी से राजनीतिक अस्तित्‍व बचाने की कोशिश करने वाले अखिलेश को सीएम योगी से सीख लेनी चाहिए। कोविड पाजिटिव होने के बावजूद सीएम योगी लगातार वर्चुअल बैठकें करते रहे। ठीक होने के साथ ही सीएम योगी प्रदेश के अलग अलग इलाकों का दौरा कर स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं का निरीक्षण कर रहे हैं। कोविड मरीजों का हाल चाल ले रहे हैं।