'पब्लिक प्लेटफ़ॉर्म'

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क।  चारों ऒर मित्रता दिवस की धूम मची थी। व्हाट्सऐप और सोशल मिडिया भला कहाँ पीछे रहने वाले थे उसके ऑफिस के साथ पूरी दुनियाँ इस दिवस को मना रहे थे। पर वसु खिन्न थी शाम को ऑफिस से आकर अपने कुछ काम समेट वसु भी बधाई सन्देश पढ़ने में लगी थी। अद्भुत पर सच या भ्रम हर मिडिया पर इस पावन पर्व की धूम थी। खूबसूरत संदे Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। 6 महीने बाद वसु शाम को अपनी घर की  बालकनी में बैठी अपने मेल चेक कर रही थी की एक मेल पर नज़र  थमी ही रह गई तेज़ धड़कनों के साथ आल्हाद का सन्देश था#भुल गई नस्तब्ध सी समझ नही सकी की जवाब क्या  दे।हाँ  कहें या न।खुद को सयमित करने में लगभग दो घँटे लगे। वसु मन ही मन जवाब ढूंढ रही थी।क्या वह एक द Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। तुम्ही से पता चला की मतभेद जरा सा हो तो सफाई नही मांगनी चाहिए और ना ही मौका देना  चाहिए,बस एक छोटा सा काम करना होता है, जो आसान है तुम्हारे लिए, जानते हो क्या?? मेरी भाषा मे उसे अंतिम संस्कार कहते है और तुम्हारी भाषा मे... तुम बेहतर जानते हो..!! अंतिम पँक्तियो के Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

औरते इनके अंदर होते हैं कई कमरे और उन कमरों में कई कोने औरते  ड्राइंगरूम की तरह जहा तमाम पैबंद छुपे होते है सजे संवरे आवरणों से.. दरवाज़ों पर टँगी रंग बिरंगी कठपुतलियां Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। बुजुर्गों का साथ औऱ समझाइश अपने स्तर पर बहुत जरूरी होती है दादा दादी या नाना नानी का असर समभाग बच्चो पर आता ही है। सबसे महत्वपूर्ण है उनका बच्चो के साथ या बच्चो का उनके साथ रहना लेकिन बदले हुए परिवेश में उनसे बच्चो को दूर रखा जाने लगा है और अपनी सफाई में माता पिता कई बहाने गढ़ लेते है,  कौन ऐसा पिता होगा Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। आपका जीवन कोई परिवर्तित नही कर सकता। सिर्फ आप इसके निर्माता है। एक विचार आपका जीवन बदल सकता है, यही विचार आपके पूरे अस्तित्व का निर्माण भी करता है। नकारात्मक विचार और सोच के व्यक्ति आपको सिर्फ गलत ही दे सकते है। सही सोच और सकारात्मक दृष्टिकोण के व्यक्तित्व आपके स्वयं के लिए भी सही साबित होंगे। Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh