'डॉक्टर सलाह'

by Pratima Jaiswal

कानपुर सिटी। कहते हैं डॉक्टर्स और वकील से कोई बात छिपानी नहीं चाहिए। यह सच भी है जब आप अपने डॉक्टर्स से छिपायेगी तो इलाज सही कैसे करेगा।  कभी-कभी युवतियों में देखा जाता है कि लेडिज डॉक्टर्स से भी बात करने में शर्माती हैं जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। अकसर महिलाओं में दो तरह की बीमारी अधिक होती है पहला अनियमित माहवारी औ Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Ananya Rawat

कानपुर सिटी। बारिश का मौसम है। कभी चिलचिलाती गर्मी और पसीने तो कभी बारिश के कारण सर्दी जैसा फिलिग़। हलाकि कुछ लोगो को गर्मी से राहत दिलाने वाला खूबसूरत मौसम भी हो सकता है। लेकिन डॉक्टर्स की मानें तो यह मौसम अपने साथ कई तरह की बीमारियां भी लाता है, जिससे आपका सारा मजा किरकिरा हो जाता है। मौनसून के दौरान ज्यादातर बीमारियां Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Pratima Jaiswal

लखनऊ सिटी। हर इंसान का ब्लड प्रेशर दिन में कई बार बदलता है। कोई ऐसा आंकड़ा नहीं है जिसे परफेक्ट कहा जाए जो किसी एक व्यक्ति के लिए कम होगा वह दूसरे के लिए सामान्य हो सकता है। लेकिन रक्त दाब का अत्यंत कम या अधिक होना दोनों ही घातक होते हैं। हृदय जितना ज्यादा रक्तदाब कम होने से ऑक्सीजन और पोषक तत्व के उतकों तक नहीं पहुंचने Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Admin

कानपुर सिटी। आजकल अस्थमा और एलर्जी सामान्य बीमारी बन चुकी है। एडल्ट ही नहीं बच्चों में भी यह प्रॉब्लम बढ़ रही है। अन्य रेस्पिरेटरी डिजीज की तरह इन पेशेंट्स में इन्फ्लुएंजा वायरस मोरबिडिटी और मोर्टेलिटी का एक बड़ा रिस्क फैक्टर है। इस वायरस के कारण फीवर आने पर अस्थमा का अटैक तेज आने की संभावना बनी रहती है। Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Ananya Rawat

कानपुर सिटी। मैदा से बनी हुई चाइनीज डिश मोमोज हर उम्र के लोगों की पसंद बनी हुई है। यह डिश बनाने में इस्तेमाल होने वाले मसालों के साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। इनमें कई तरह के कैमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है। जिससे कई प्रकार की बीमारियां होने का अंदेशा रहता है। इसको खाने से बॉडी का ब्लड ग्लूकोस एक्यूमलेट हो जाता है। इससे आर Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Renu mishra

कानपुर सिटी। गर्मी के मौसम में जरूरी है कि शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा रहे। इसलिए अधिक-से-अधिक फ्लूड्स पीएं। पानी की मात्रा ढाई से तीन लीटर बढ़ाएं। कोकोनट वॉटर, खस शरबत, ठंडाई, आम पन्ना, फ्रूट पंच, जॉ, लस्सी, नींबू पानी, लो फैट मिल्क और सत्तू का पानी पीएं। कुदरत ने हमें तरबूज, खरबूजा, लीची और आम जैसे जूसी फ्रूट्स द Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh