'फोकस24 स्पेशल स्टोरी'

by Focus24 team

नई दिल्ली। दक्ष से अपमान से क्रोधित होकर माता सती ने स्वयं को अग्नि को समर्पित कर दिया। भगवान शिव ने क्रोधित होकर दक्ष का मस्तक उसके शरीर से अलग कर उसका वध कर दिया। इसके पश्चात महादेव अपनी पत्नी सती का शव गोद में उठाए हुए गुस्से में तीनों  लोकों में घूमते रहे।  शिव का यह क्रोधित रूप देख सभी देवी - देवता भयभीत होने लगे। सभी देवता महादेव के आराध्य भगवान विष्णु Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Priyanka Shukla

लखनऊ सिटी। हमारे यहां होली में अपनों को कलर लगाकर शुभकामनाएं देने कि परंपरा है। जबकि हेल्थ एक्सपर्ट कि मानें तो कुछ कलर ऐसे होते हैं जो हमारे हेल्थ के लिए नुकसान पहुंचाते हैं और हमारी स्किन को बदरंग कर देते हैं। आजकल मार्केट में मिलने वाले मिलावटी रंगों के कारण ये हमारी त्वचा को घातक भ Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Priyanka Shukla

कानपुर सिटी। होली कि तैयारी शुरू हो गई है। पूरे देश में ये त्यौहार धूम- धाम से मनाया जाता है। इस साल  होली 2 मार्च को मनाया जाएगा। जबकि होलिका दहन 1 मार्च को है। होली को लेकर कई कहानियां जुड़ी हुई हैं, उन्हीं कहानियां में से एक प्रहलाद और हिरण्यकश्यप की कहानी है। तो आइए इस कहानी के बार Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Priyanka Shukla

कानपुर। कम शर्दी बिल्कुल कम गर्मी दोनों के बीच का जो सामजस्य वाला ये होली फेस्टवैल साल में जब एक बार आता है न भोजपुरी भाषा में कहते हैं बुढो जवान हो जाला। अब बात करती हु सिनेमा जगत की जहा एक तरफ पूरा देश कई रंगों में रगने को तैयार है वहीँ भोजपुरी सिनेमा एक अलग अंदाज में इसका लुत्फ ले र Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Shikha singh

कानपुर सिटी। होली मतलब कलर फेस्टवल। ढेर सारे पकवान, अपनों संग मस्ती और जोगी जी सररर…। वैसे तो ये कलर फेस्टवल देखने बहुत अच्छा लगता है और कहा जाता है कि खुशियां लेकर आता है। लेकिन जब होली का खुमार उतरता है तो पता चलता है कि ढेर सारी परेशानी भी छोड़ गया खासतौर पर स्किन और बालों से जुड़ी प Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh