'फोकस स्पेशल स्टोरी'

by Priyanka Shukla

फीचर्स डेस्क। इस चिलचिलाती गर्मी में प्यास हमें भी लगती है। ऐसे में ये बेजुबान कैसे रहते होगें।  हर साल की तरह इस साल भी focus24news.com की तरफ से एक “ save birds” कैम्पेन शुरू किया जा रहा है। जिसमे सभी जनों से अनुरोध है कि इस अभियान में हिस्सा लें और इन बेजुबानों को बचाएं।   Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Shikha singh

फीचर्स डेस्क। पिछले दिनों बीबीसी में एक खबर छपी जिसके अनुसार महिलाये अगर पुलिस में भर्ती होती हैं तो उन्हें बहुत कुछ झेलना पड़ता है। एक आकड़े के अनुसार देश में करीब 1,7722, 786 पुलिस अफसर हैं।  जिनमें से 105, 325 महिलाएं हैं। अगर इस आकड़ें को प्रतिशत में निकाला जाय तो सिर्फ 7.28 प्रतिशत महिलाएं पुलिस में सेवा दे रहीं हैं। कहा जाता Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Neeraj tripathi

फीचर्स डेस्क। लजीज वयंजन के क्षेत्र में बादशाह कहे जानें वाले राकेश सेठी ने दिल्ली स्थित एक होटल में रविवार को जब “लाइव फूड़ीज वॉर” के चीफ जज के भूमिका में ग्रुप के मेम्बर्स में फर्स्ट, सेकंड और थर्ड का पिटारा खोला तो सभी पार्टिसिपेटर झूम उठे। दरअसल, घर में रहकर बच्चों और फैमली मेम्बर्स की देखभाल करने वाली मह Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Neeraj tripathi

फीचर्स डेस्क। लजीज वयंजन के क्षेत्र में बादशाह कहे जानें वाले राकेश सेठी ने दिल्ली स्थित एक होटल में रविवार को जब “लाइव फूड़ीज वॉर” के चीफ जज के भूमिका में ग्रुप के मेम्बर्स में फर्स्ट, सेकंड और थर्ड का पिटारा खोला तो सभी पार्टिसिपेटर झूम उठे। दरअसल, घर में रहकर बच्चों और फैमली मेम्बर्स की देखभाल करने वाली मह Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Shikha singh

फीचर्स डेस्क। सुनो ना, आज कुछ कहना है तुमसे, बहुत दिनों से सोच रही हूँ कि दिल की हर बात कह दूँ। पर जाने क्या सोचकर रूक जाती हूँ। अच्छा एक बात तो बोलो जरा,  क्या तुम्हें हमारी पहली मुलाकात याद है। मैं तो कभी भी नहीं भूल सकती वो दिन कितना डरावना था ना सबकुछ, मैं बस स्टैंड पर खड़ी किसी सवारी का इंतजार कर रही थी। पर जिसका दूर दूर तक कोई नामोन Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Shikha singh

फीचर्स डेस्क। अगर भगवान आम महिला होते तो सोचिए क्या करते ? जब भी ऐसा सोचती हूं तो लगता है वो भी अपने अस्तित्व के लिए हर पल लड़ते । क्या एक महिला के कर्म ईश्वर से कम होते हैं ? जरा सोचिए !  नहीं _हर महिला अपने आप में ईश्वर का रूप होती है जो हर दायित्व निभाती है बिना कोई भी शिका Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh