'कहानी'

by Shivangi Agarwal

फीचर्स डेस्क। एक बार देवी ने भगवन से पूछा इन्सानों को हमेशा अपने लिये किसी भगवान कि जरूरत क्यो पड़ती है?  जबकि उसका जीवित रह कर सांस लेना ही इस बात का प्रमाण है कि स्वयं उसमें ईश्वर है,  आप है! वो स्वयं ईश्वर का अंश है और इस तरह वह स्वयं शिव है ..???  उत्तर में भगवन Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। बस चीखे ही थी अंतर्नाद करती हुई। हुजूम रिश्तों  का।  अंदर बाहर सब खचाखच। निमेष  भौचक्का था कि नित्या ने इतने लोगों को जोड़ा है और मैं उसे कुछ भी नही समझता था।  पंडित आभासी दुनिया  के मित्र एडिटर्स प्रकाशन संस्थाएं एनजीओ  वाले सब मौजूद थे।  कही न जाने वाली नित्या अपनी लेखनी से इतना आगे बढ़ गई थी। यह अंदाज़ पूर Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। आज बहुत  दिनों बाद तुम्हे देखा सुबह  इतनी  व्यस्त होती है की  लिखने नही बैठ पाती कुछ भी जीवन है उतार चढ़ाव भी और कई सारी मुसबीते भी एक खत्म दूसरी  हाथ   बांधे सामने  नज़रअंदाज़ करने की भरसक कोशिश पर कामयाबी नही मिलती ,,उदास होती हूँ घबराती भी हूँ उलझन के साथ एक अनज Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। तुम आज बहुत दिनों बाद तुम्हे देखा सुबह इतनी व्यस्त होती है की लिखने नही बैठ पाती कुछ भी ... जीवन है। उतार चढ़ाव भी और कई सारी मुसबीते भी एक खत्म दूसरी हाथ बांधे सामने नज़रअंदाज़ करने की भरसक कोशिश पर कामयाबी नही मिलती, उदास होती हूँ घबराती भी हूँ उलझन के साथ एक अनजाना डर भी... पर जब तुम्हे देखती हूँ तो थोड़ी श Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क।  आज नींद जल्दी खुल गई सुबह के लगभग 6 बजे है।सुबह अभी भी निशा के आगोश में ही है। सर्द मौसम का असर है। इक्का दुक्का शुनक (श्वान) भौंक रहे है फितरत है आहट से  सतर्क होने की   यह भी एक इनका अपना गुणधर्म है। विपदाओं को भाँपने की अनुपम शैली   नासिका यंत्र का अतुलनीय उपयोग और मनुष्य Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। अच्छा लगता है जब आप किसी हताश व्यक्ति को मोटीवेट करते हो तो खुद जब आप किसी विषम परिस्थितियों से गुजरते है तो आसान हो  जाता है  समझना  और समझाना, परिस्थितियों से लड़े हारे नही संघर्ष करे   कमजोर ना बने,आत्मविश्वास लाएं, दो पल की जिंदगी हौसला रखे और खुश रहे...! तुम्हारी Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh