'विशेष पर्व'

by Pratima Jaiswal

फीचर्स डेस्क। करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाओं के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण होता है और इस व्रत का महिलाओं को साल भर इंतजार रहता है। इस साल करवा चौथ का व्रत 17 अक्टूबर को मनाया जाएगा। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को करवा चौथ के रूप में मनाए जाने की परंपरा है। महिलाएं इस दिन निर्जला व्रत रखकर पति की दीर्घायु की कामन Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। बिहार की राजधानी पटना से करीब 104 किलोमीटर की दूरी पर बसा है गया जिला। धार्मिक दृष्टि से गया न सिर्फ हिन्दूओं के लिए बल्कि बौद्ध धर्म मानने वालों के लिए भी आदरणीय है। बौद्ध धर्म के अनुयायी इसे महात्मा बुद्ध का ज्ञान क्षेत्र मानते हैं जबकि हिन्दू गया को मुक्तिक्षेत्र और मोक्ष प्राप्ति का स्थान मानते हैं। Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। हमारे धार्मिक कार्यों की पूर्णता बगैर मंत्र तथा स्तोत्र के नहीं होती है। श्राद्ध में भी इनका विशेष महत्व है। स्तोत्र कई हैं। दो का उल्लेख पर्याप्त होगा। पहला है पुरुष सूक्त तथा दूसरा है पितृ सूक्त। इनके उपलब्ध न होने पर निम्न मंत्रों के प्रयोग से कार्य की पूर्णता हो स Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

फीचर्स डेस्क। सावन मास का आज पहला सोमवार है। आज हर हर महादेव के लोग नारें लगायेगे। आपको बता दें की यह सावन माह शिवजी का बहुत प्रिय है। ऐसे में यदि आप इन दिनों में पार्थिव लिंग बनाकर शिव पूजन करते हैं तो आपको विशेष पुण्य मिलेगे। शिवपुराण में पार्थिव शिवलिंग पूजा का महत्व बताया गया है। कलयुग में कूष्माण्ड ऋ Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Priyanka Shukla

फीचर डेस्क। इस साल चैत्र मास के नवरात्रि की शुरुआत 6 अप्रैल से हो रही है। जबकि रामनवमी 14 अप्रैल को है। हिन्दू कैलेण्डर के अनुसार नवरात्री से नए साल की शुरुआत होती है। ऐसे में पिछला साल का विक्रम संवत 2075 को विदा कर यह साल विक्रम संवत 2076 का वेलकम करेगा। कहते हैं किसी भी शुभ कार्य नवरात्री से आरंभ होता। इन नव Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Pratima Jaiswal

फीचर्स डेस्क। होली एक अच्छा मौका है अपनी बुराइयों को जानने का परखने का और होलिका दहन में स्वाहा करने का,हो सके तो अपनी किसी न किसी बुराई को उस होलिका की अग्नि में अवश्य स्वाहा कर दें। होलिका के पास वरदान प्राप्त था अग्नि में न जलने का  मगर क्योंकि उसने उस वरदान का गलत उपयोग किया इसलिए उसे जलकर भस्म होना पड़ा और भगवा Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh