'विशेष पर्व'

by Ananya Rawat

कानपुर सिटी। वट सावित्री व्रत ज्येष्ठ कृष्णपक्ष की अमावस्या को किया जाता है।   वट सावित्री व्रत मुख्यरूप से महिलाओं द्वारा किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि जो भी स्त्री इस व्रत को करती हैं उसका सुहाग अमर हो जाता है। महाभारत के वनपर्व में वर्णित कथा के अनुसार जिस तरह सावित्री ने अपने पति सत्यवान को यमराज के Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

कानपुर। शब-ए-बारात को इस्लाम धर्म में इबादत की रात के तौर पर जाना जाता है। शब-ए-बारात की रात इस्लामी कैलेंडर के मुताबिक आठवें महीने की 15 वीं तारीख को आती है। इस्लामी कैलेंडर के मुताबिक शब-ए-बारात आज है। इस्लामिक मान्यताओं के अनुसार इस रात इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग अल्लाह की इबादत में मनाते हैं। साथ ही शब-ए-बारात की रात मुस्लिम सम्प्रदाय के लोग Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Priyanka Shukla

कानपुर सिटी। आज अक्षय तृतीया है, आज मा लक्ष्मी की विशेष पूजा होती जाती है। पुरोहितो का कहना है की यदि आज मा लक्ष्मी की पूजा सही तरीके से कोई करता है तो उसको धन की कमी कभी नहीं होगी।  महालक्ष्मी पूजा करने के बाद ऊँ महालक्ष्मयै नमः मंत्र का जाप 108 बार करें। आइये जानते हैं काशी के पं।  नवीन कुमार पाण्डेय के अनुसार लक्ष्मी Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Ananya Rawat

वाराणसी सिटी। अक्षय तृतीया 18 को है। ऐसे में किसी भी मांगलिक कार्य और सोने की खरीदारी के लिए ये दिन शुभ माना जाता है। ऐसे में ज्योतिषार्यों की मानें तो इस दिन ध्यान से किये गए पूजा से माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और पुरे साल मां लक्ष्मी की कृपा बरसती रहती है। करने का सबसे अक्षय तृतीया का दिन सबसे ज्यादा शुभ माना जाता ह Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

नई दिल्ली। दक्ष से अपमान से क्रोधित होकर माता सती ने स्वयं को अग्नि को समर्पित कर दिया। भगवान शिव ने क्रोधित होकर दक्ष का मस्तक उसके शरीर से अलग कर उसका वध कर दिया। इसके पश्चात महादेव अपनी पत्नी सती का शव गोद में उठाए हुए गुस्से में तीनों  लोकों में घूमते रहे।  शिव का यह क्रोधित रूप देख सभी देवी - देवता भयभीत होने लगे। सभी देवता महादेव के आराध्य भग Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Ananya Rawat

कानपुर सिटी। नवरात्र में शक्ति के नौ रूपों की उपासना की जाती है, क्योंकि 'रात्रि' शब्द सिद्धि का प्रतीक माना जाता है। मनीषियों ने वर्ष में दो बार नवरात्रों का विधान बनाया है- विक्रम संवत के पहले अर्थात् चैत्र मास शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा (पहली तिथि) से नवमी तक।  इसी प्रकार इसके ठीक छह मास पश्चात आश्विन मास शु Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh