'स्टोरी'

by Focus24 team

नई दिल्ली। हिन्दू शास्त्रों और पुराणों में बताया गया है कि भगवान अपने भक्तों के मन की इच्छाओं एवं क्रोध में उनके द्वारा दिए गए श्राप को भी शिरोधार्य करते हैं. ऐसे कई उदाहरण देखने को मिले हैं. ऐसा ही एक श्राप कौरवों की माता गांधारी ने श्री कृष्ण को दिया था जिससे कि सम्पूर्ण यादव वंश का नाश हो गया. दरअसल, पांडवों की कौरवों पर विजय के पश्चात सभी लोग एक बार य Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by Focus24 team

नई दिल्ली। ब्रह्मा जी के महल में हजारों सेविकाएं थीं, जिनमें से एक थीं अंजना। अंजना की सेवा से प्रसन्न होकर ब्रह्मा ने उन्हें मनचाहा वरदान मांगने को कहा। अंजना ने हिचकिचाते हुए उनसे कहा- कि "उन पर एक तपस्वी साधु का श्राप है , अगर हो सके तो उन्हें उससे मुक्ति दिलवा दें"। ब्रह्मा ने उनसे कहा- कि "वह उस श्राप के बारे में बताएं, क्या पता वह उस श्राप से उ Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by जाने आखीर कितने दानी हैं आप?

नई दिल्ली।  बच्चे का जन्मदिन, शादी-ब्याह, प्रमोशन, माता-पिता की बरसी, पित्र पक्ष… दान करने के हमारे पास कई मौके होते हैं।   कई बार तो हम बिना वजह भी दान करते हैं, लेकिन हर बार क्या हमें दान करने की ख़ुशी और संतुष्टि मिल पाती है? नहीं, क्योंकि हर बार हम निस्वार्थ भाव से दान नहीं करते।  ज़्यादातर मौक़ों पर हम अप Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by 'विष्णुपुराण’ में लगभग तेईस हजार श्लोक हैं, जानें कुछ खास बाते

मुंबई। विष्णु पुराण' समस्त पुराणों में सबसे छोटे आकार किन्तु वैदिक काल का महत्त्वपूर्ण पुराण माना जाता है। इसकी भाषा साहित्यिक व काव्यमय गुणों से भरपूर है। 'विष्णुपुराण’ में लगभग तेईस हजार श्लोक हैं। विष्णु पुराण के भाग  विष्णुपुरा Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by राम से बड़ा है ‘राम का नाम’

नई दिल्ली। राम और रामभक्त पवनपुत्र हनुमान की भक्ति से तो आप सब अच्छी तरह वाकिफ़ होंगे। हनुमान के जैसा भक्त इस पूरे संसार में न कभी हुआ है और न कभी होगा। जिनकी भक्ति से प्रसन्न होकर माता सीता ने अमरता का वरदान दिया हो। लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि एक बार पुरुषोत्तम श्री राम और उनके भक्त हनुमान में भी युद्ध छिड़ गया था। जी हां, एक समय ऐसा भी रहा जब भगवान ने अपने भक Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh

by जानें, रामचरित मानस के अनुसार कौन कौन लोग नहीं बन सकते अमीर

महाराष्ट्र। रामचरितमानस में श्री राम ने अपने एक उपदेश में अपने भाइयों को शिक्षा  देते हुए कहा कि दुनिया में बहुत सारे प्राणी है उनमे मानव ही सबसे अकलमंद है मगर सभी मानव उतनी प्रगति नहीं कर पाते जितनी वो कर सकते हैं। श्री राम ने कहा कि बहुत बुद्धिमान होते हुए भी व्यक्ति चरम उत्कर्ष पर नहीं पहुंच पाता। क्योंकि सफलता को पचाना हर एक के बस की Read more...

h h h h h h h h h hhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h h h h h h h h h h hhhhhhhhhh