जर्मनी को पसंद आया काशी का होलीउत्सव, इस तरह शेयर किया अपना अनुभव

Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
14th March, 2017 - 7:41 PM, Edited by

वाराणसी सिटी। कहा जाता है कि जब तक होली खेलने बनारस न आएं, तब तक होली का मजा ही नहीं आता। कुछ इसी तरह के सोच लेकर सोमवार को होली खेलने काशी में फॉरेनर्स का एक हुजूम आ पड़ा था। लेकिन यहां कुछ ने बढ़-चढ़कर होली खेली तो कुछ ने इसे देखकर ही एन्जॉय किया। ऐसे में focus24news.com ने फॉरेन से होली खेलने आए शख्स से बात-चीत कर यहां होने वाली होली के बारे में जाना। जर्मनी से आये इस शख्स का नाम मार्क विलियम था। आइए जानते हैं इस शख्स ने काशी और वहां खेली जाने वाली होली के बारे में क्या कहा-

प्र०- काशी के होली के बारे में क्या कहना चाहेंगे?

उ०- यहां की होली देखकर दिल खुश हो जाता है। हमारे यहां से हर साल सैकड़ों लोग केवल होली खेलने बनारस आते हैं। उन्हें यहां अलग ही आनंद आता है।

प्र०- यहां के लोग कैसे हैं?

उ०- यहां के लोग बहुत ही फ्रेंडली और फ्रैंक हैं। सबसे अच्छे से व्यव्हार करते हैं, लेकिन यहां कुछ ऐसे भी लोग हैं जिनकी अभद्रता के कारण काशी विदेशों में बदनाम होती है।

प्र०- यहां के लोगों में क्या बुराइयां हैं?

उ०- यहां के लोग हमेशा टूरिस्ट को लूटने के फेर में रहते हैं। जहां 1 किमी ऑटो से चलने के लिए एक या दो रुपए लगते हैं, वहीँ विदेशी टूरिस्ट से ये लोग 100-200 रुपए लेते हैं। इसके अलावा होटल और लॉज हर जगह पर टूरिस्ट से पैसे ऐंठे जाते हैं।

प्र०- काशी के लिए जर्मनी के लोगों में क्या धारणा है ?

उ०- काशी को वहां के लोग बहुत ही आध्यत्मिक दृष्टि से देखते हैं। काशी का अल्हड़पन सबको अत्यधिक पसंद आता है।

प्र०- दुसरे शहरों की अपेक्षा काशी में कितनी स्वच्छता रहती है ?

उ०- पहले काशी इतनी साफ़ नहीं थी। इंडिया के पीएम नरेन्द्र मोदी की ओर से स्वच्छता अभियान शुरू कराने के बाद थोड़ी सफाई दिखने लगी है। यदि यहां के लोग इसमें थोड़ा सहयोग करें तो काशी स्वच्छ हो सकती है।

प्र०- सबसे साफ़ शहर कौन सा है ?

उ०- मैंने कई शहर जैसे वाराणसी, दिल्ली, राजस्थान, केरल, विशाखापटनम, पंजाब, मध्यप्रदेश घुमा है। इसमें सबसे साफ़ विशाखापटनम व दिल्ली है।

प्र०- नरेन्द्र मोदी को कब से जानते हैं?

उ०- पहले कई बार इंडिया के पीएम मोदी के बारे में चर्चाएं होती रहती थीं। लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी के फैसले का बाद वे फेमस हुए। आज राजनीती में पीएम मोदी सबसे स्ट्रांग परसन हैं। उन्होंने भारत की छवि को विदेशों में पूरी तरह से बदल दिया है। यदि ऐसे ही देश हित में काम करते रहे तो फ्यूचर में उनसे अच्छा काम करने वाला पीएम कोई नहीं होगा।

(मार्क से सारी बातें इंग्लिश में हुईं यहां सुका हिंदी वर्जन दिया गया है।)