स्वतंत्रता स्पेशल: 1906 में बनाई थी भारत मां की पहली तस्वीर, नाम रखा- हिन्द देवी

Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
15th August, 2018, Edited by Abhishek seth

नई दिल्ली। आज 72वां स्वतंत्रता दिवस है। इस दिन लोग मां भारती का आदर व सद्भाव से पूजन करते हैं। इन्हें भारत माता के नाम से भी जाना जाता है। दरअसल, मां भारती की पहली तस्वीर अहमदाबाद के शिक्षक मगनलाल शर्मा ने 1906 में इसे बनाया था। नाम रखा था- हिंद देवी। आजादी की लड़ाई के दौरान पहली बार इसी तस्वीर ने अखंड भारत की छवि लोगों के सामने रखी। इसमें भारत माता के सिर का मुकुट कश्मीर तो पांव दक्षिण में श्रीलंका तक को छू रहे हैं। लंका देवी के पांवों पर चढ़ा फूल है। दाएं हाथ में पकड़ा त्रिशूल सिंध प्रदेश से होते हुए अफगानिस्तान तक पहुंच रहा है, तो साड़ी सुदूर पूरब के प्रदेश बंगाल तक लहरा रही है। और केश हिमालय की चोटियों के साथ-साथ पश्चिम से पूरब तक जा रहे हैं। 
तब हिंद देवी की तस्वीर की हजारों कॉपियां राजा रवि वर्मा के जर्मनी स्थित प्रेस में छापी गई थीं। आजादी की लड़ाई के दौरान इसकी चर्चा महलों से लेकर गांवों तक होती रही। कहा जाता है कि कवि रबींद्रनाथ टैगोर ने हिंद देवी से प्रभावित होकर ही 1930 में प्रसिद्ध गीत 'अयि भूवनमनो मोहिनी' लिखा था। अरबिंद घोष ने इसे आजादी की लड़ाई में प्रेरणा देने वाला बताया था। गुजरात के संत स्वामी आनंद ने तब अपनी किताब 'संतोना अनुज' में लिखा था कि क्रांतिकारी कृपाशंकर पंडित और डॉ. हरिप्रसाद देसाई की प्रेरणा से मगनलाल शर्मा ने ये तस्वीर बनाई थी।