Youth day special : 100 रुपए से स्ट्रार्ट और आज टर्न ओवर 1 करोड़ साल

Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
12th January, 2018 - 9:14 PM, Edited by Neeraj tripathi

वाराणसी सिटी।  12 जनवरी को यूथ डे है। Focus24news. com एक 26  साल कि गर्ल्स के बारे में बताने जा रहा है जिसने एक आइडिया से सक्सेस को छू लिया। बचपन से दुसरो कि लिए जीने कि चाह ने आज उसे बिसनेस में बुलंदियों तक तो पहुचाया ही साथ में सोशल वर्क में कुछ ऐसा करती हैं जिसके लिए जितनी तारीफ किया जाए कम है।  जी, हैं वाराणसी सिटी की अंजली जायसवाल आज शहर में किसी पहचान कि मुहताज नहीं हैं ।

संछिप्त परिचय

नाम -     अंजली जायसवाल

जन्म तिथि –   18 अक्टूबर 1991

सिटी       -    वाराणसी

माँ का नाम -   रचना जायसवाल

पिता का नाम -    लेट. जय प्रकाश जायसवाल

शिछा-             बीकाम

कंपनी नाम :-  कशी विश्वनाथ रुद्राक्ष केंद्र वाराणसी

100 रुपए से शुरू किया काम आज 1 करोड़ लगभग साल का टार्नओवर

अंजली ने 2014 महज चार साल पहले 100 रुपए लेकर घर से रुद्राछ का बिसनेस करने निकली थी।  आज उनकी मेहनत और आत्म विस्वास ने उनको करोड़ पति बना दिया।

घर में बड़ी और ढेरो जिमेदारियां

अंजली अपने घर में एक भाई और एक बहन में सबसे बड़ी हैं और इनके उपर काफी जिमेदारी भी है।  खुद के लिए टाइम हो या ना हो पर अपनी फैमिली के टाइम निकालना और उनका ख्याल रखना अंजली को बखूबी आता है।

मिल चूका है इंटरनेशनल अवार्ड

अंजली को कई इंटर नेशनल अवार्ड मेल चूका है।  आज अंजली देश के सभी कोने – कोने में अपने बेस्ट ऑफर और रेंज के लिए जानी जाती हैं।  रुद्राछ हेंडीक्राफ्ट, ज्वेलरी, सभी रिलीजियस प्रोडक्ट के लिए अंजली का नाम अच्छे बिजनेस पर्सन में गिना जाता है।

सोशल वर्क भी डिफरेंट

अंजली ने हमेशा लीक से हटकर काम करने के जानी जाती हैं।  इन्होनें ने सोशल वर्क में भी वही चुना जो बहुत कम लोग कर सकते हैं।  अंजली लावारिस बाड़ी का अपने पैसे (संस्था) से अंतिम संस्कार कराती हैं।  वही जरूरतमंद बच्चों को शिछा के सभी जरुरत की वास्तु उपलब्ध कराना इनकी प्राथमिकता होती है।

क्यों मनाते हैं यूथ डे ?

1 इंडिया में स्वामी विवेकानन्द  एनवर्स‍िरी 12 जनवरी को पहला साल राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है।

2 संयुक्त राष्ट्र संघ के निर्णय के मुताबिक, 1984 को 'अंतरराष्ट्रीय युवा ईयर' घोषित किया गया था। इसके महत्व का विचार करते हुए भारत सरकार ने घोषणा की कि सन 1984 से 12 जनवरी यानि स्वामी विवेकानंद के बर्थडे का दिन राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में देशभर में मनाया जाए।

3. भारत सरकार का विचार था- ''स्वामी जी का दर्शन-स्वामी जी के जीवन में निहित उनका आदर्श, यही भारतीय युवकों के लिए प्रेरणा का बहुत बड़ा स्रोत हो सकता है।''