Holi Special: ... होली पर इसलिए होती है कामदेव कि पूजा, पढ़े क्या है पूरी कहानी

Slider 1
« »
25th February, 2018 - 5:03 PM, Edited by Priyanka Shukla

कानपुर सिटी। होली का फेस्टवेल गले मिलने सारी दुश्मनी, नाराजगी और पुरानी बातो को भूल जानें के नाम से जाना जाता है। इसलिए इसको रंगों का त्यौहार कहा जाता है क्योकि होली में न जाति का भेद होता है और न धर्म का। पूरे एक साल में जो नाराजगी अनबन हुई रहती है लोग होली पर आपस में गले मिलकर दूर करते हैं। वहीँ हिन्दू पंचांग के अनुसार नव वर्ष की शुरूआत भी चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से होती है, ऐसे में नव वर्ष को लोग एक दूसरे को गुलाल लगाकर वेलकम करते हैं और शुभकामनायें देने कि परम्परा का पालन करते हैं। वहीँ होली से जुड़े कुछ ऐसे उपाय भी हैं जो आपके लाइफ में चार-चांद लगा देंगे। ... तो आए मैं आपको कुछ ऐसे ही टिप्स से रूबरू कराती हूँ ....

पति को बाहर वाली के चुंगल से बचाए

जी, हां यदि आपको लगता है कि आपके पति आपको प्यार नहीं करते और किसी बाहर वाली के चंगुल में फसे हैं तो आप इस होली पर अपने पति का प्यार वापस पा सकती हैं। ऐसे में आपको एक इजी सा काम करना है। आपके आसपास होलिका जब जलेगी तो उनके चारों तरफ सात बार परिक्रमा करके वहा से थोड़ी सी राख उठा कर घर लायें और लाल कपड़े में बांध कर अपने तकिये के निचे रख लें। ऐसा करने से जल्द आपको आपका प्यार वापस मिलने लगेगा।

घर से दूर होगी दरिद्रता

यदि आपको लगता है कि आपके जीवन में सबकुछ ठीकठाक नहीं चल रहा है तो ऐसे में इस  होली पर एक  नारियल, एक जोड़ा लौंग, थोड़े से काले तिल व पीली सरसों को सिर के उपर से 21 बार घुमाये होली की अग्नि में डाल दें। वहीँ आप इस दिन तारणहार हनुमान जी को चोला चढ़ा सकते हैं इससे सारे बिगड़े काम बनने लगते हैं साथ ही घर से दरिद्रता दूर होती है।

इस दिन होती है कामदेव कि पूजा

कहा जाता है कि इस दिन जो लोग कामदेव कि पूजा करते हैं उनके घर में बरक्कत होती है। जबकि वास्तु दोष निवारण के लिय वास्तु एक्सपर्ट कहते हैं कि होलिका दहन की राख को थोड़ा-थोड़ा घर के चारों कोनों पर लाल कपड़े में बांधकर दबाने से वास्तु दोष ठीक हो जाता है।