समर सैम्प : समय का सही सदुपयोग और संगीत की दुनिया को समझ रहे सिटी के बच्चे

Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
30th May, 2019, Edited by Focus24 team

वाराणसी सिटी। सिटी के पांडेयपुर स्थित  काबूम डांस इंस्टिट्यूट  में “हुनर ये काशी” कार्यक्रम के अंतर्गत समर कैम्प का आयोजन किया गया है। इसकी जानकारी संस्थान के निदेशक अमित गुप्ता ने दी है।  

इंटरटेन और उनको रिफ्रेश करने का मौका

काबूम डांस इंस्टिट्यूट  में इस समर कैम्प के जरिए सिटी के बच्चों और यूथ को कई तरह कला के साथ साथ संगीत के क्षेत्र में निपुण किया जा रहा है। दरअसल, साल में महज दो से तीन महीने मिलने वाले इस मौके को कोई बच्चा छोड़ना नहीं चाहते है। समर कैंप के जरिये बच्चो को इंटरटेन और उनको रिफ्रेश करने का मौका मिलता है।

इस पर होगा अधिक फोकस

इस कैंप में 18 साल तक के बच्चे भाग ले सकते हैं। समर कैम्प में बच्चों को युवा फेस पेंटिंग, थंब पेंटिंग, डूडल, कोलाज बनाना, कत्थक डांस के साथ-साथ भरतनाट्यम का प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसके अलावा इस संस्था में पुरे साल बच्चों को सेल्फ डिफेन्स क्लास, सरगम में गिटार, कीबोर्ड, डांस, ड्रामा, आर्ट एंड क्रॉफ्ट, राइटिंग स्किल्ड आदि एक्टविटिज सिखाई जाती है।  

बेहतर प्लेटफ्रॉम

एकेडमी का मकसद है की समर कैंप के जरिये बच्चों की क्रीयेटीविटी को बेहतर प्लेटफ्रॉम मिले। ताकि बच्चें अपने टैलेंट को निखार सकें।  

एक्सपर्ट दे रहे टिप्स

बता दें कि इस संस्था में अलग – अलग फिल्ड के एक्सपर्ट बच्चों को डिफरेंट आर्ट के बेसिक टिप्स दे रहे हैं। जैसे- भरतनाट्यम –प्रमोद विश्वकर्मा, क्लासिकल डांस- अनुपमा गुप्ता, वेस्टर्न डांस- राहुल जायसवाल, आर्ट और क्राफ्ट- सिधांत और गिटार की ट्रेनिग दे रहे हैं आकाश राज।  

टाइम का सही यूज़

छुटियों के समय का सही सदुपयोग अपनी प्रतिभा को निखारने के लिए करना चाहिए। इसमें समर कैंप की भूमिका अहम् होती है। अपने – अपने रूचि के हिसाब से फिल्ड तराशना चाहिए।  

                                                                  - अमित गुप्ता, निदेशककाबूम डांस, इंस्टिट्यूट, पांडेयपुर वाराणसी ।