Valentine Day Special......क्यूट से टेडी के साथ कहिए....हैप्पी टेडी डे

Slider 1
« »
10th February, 2017, Edited by Shikha singh

नई दिल्ली। टेडी एक सॉफ्ट टॉय.... और सॉफ्ट टॉय तो हर किसी के फेवरेट होते हैं। बच्चों से लेकर बुढ़े तक टेडी को अपने बेड पर रखना बेहद पसंद करते है। तो इसे यंगस्टर डे कहना तो बेकार है। यह डे ना किसी उम्र का है, ना किसी समय का। बेसीजन गिफ्ट है टेडी। इस टेडी से जुड़ा एक बहुत खुबसूरत किस्सा है, जो हम आप सब के साथ शेयर करना चाहते है।

कर्नल साहा और मिसेज साहा का हैप्पी टेडी डे

दो 60 से 70 साल के जोड़े यानी मिसेज महिमा साहा और उनके एवरग्रीन पति ऋषभ साहा की कहानी है ये। ऋषभ एक आर्मी रिटायड कर्नल है, और उनकी पेंशन पर उनका परिवार चलता है। हालाकि कर्नल साहब के दो बेटे भी है, पर दोनों ही बेटे अब विदेश में नौकरी करते है। कर्नल और उनकी पत्नी अब दिल्ली के रोहणी इलाके में एक दुसरे का सहारा बन जिंदगी व्यतीत कर रहे है। कर्नल ऋषभ और उनकी पत्नी पिछले साल 9 फरवरी को एक रेस्टोरेंट में खाना खाने पहुचें। वहां रेस्टोरेंट को इतना सजा-धजा देख कर दोनों काफी खुश तो दिख रहे थे, पर साथ ही दोनों के मन में यह सवाल भी था... कि आखिर आज ऐसा क्या है जो इतनी सजावट है यहां।

लड़कियों का तो आप जानते है, जब तक बाल की खाल ना निकाल ले उनका खाना कैसे पच जाएगा। बस फिर क्या था मिसेज महिमा टेबल से उठी और मैनेजर से जाकर पूछने लगी...सुनिए मैनेजर साहब आज किसी का बर्थडे है क्या?, जिसके लिए आपने रेस्टोरेंट को इतना सजा रखा है।

मैनेजर ने कहा...नहीं मैडम दरअसर यह लव सीजन वीक है, और इस वीक के दौरान ज्यादातर मॉल और रेस्टोरेंट कुछ इसी तरह से सजे होते है।

मिसेज महिमा वापस अपने टेबल पर आती है और अपने पति कर्नल से पूछती है...अरे कर्नल साहब ये लव सीजन क्या होता है?

कर्नल साहब बड़ी ही प्यार से उन्हें समझाते हुए बताते है कि यह आज के यूथ का अपना ही फेवरेट सीजन है। ये हर साल इन्हीं दिनो में मनाया जाता है और इसमें सभी प्यार करने वाले अपने पार्टनर को प्यार से इस सीजन के पहले दिन रोज, दूसरे दिन प्रपोज करते है, तीसरे दिन चॉकलेट, चौथे दिन टेडी, पांचवे दिन प्रोमिस, छठे दिन हग डे, सातवे दिन किस डे और आखिर दिन अपने साथी के साथ वेलनटाइन डे मनाकर इस वीक को और खास बनाते है।

मिसेज महिमा ने बड़ी ही मासूमियत के साथ कहा ये लव वीक क्या सिर्फ यंगस्टर ही मनाते है? महिमा की भावनाओं को समझते हुए कर्नल ने बड़े ही चुभते हुए स्वर में कहा कि और क्या… अब क्या तुम चाहती हो...कि हम जोकि है 55 के और इसे मनाकर काम करे बचपन के।

मिसेज महिमा ने अपने लड़की वाला अंदाज झाड़ते हुए बड़े तीखे स्वर में कहा करने वाले के लिए क्या 55 और क्या बचपन.....

अब क्या था...जहां सारी दुनिया वैलेंटाइन लव वीक मना रही थी, वहां कर्नल ऋषभ साहा मिसेज साहा के ताने खा रहे थे। पूरी रात भर ताने खाने के बाद सुबह मिसेज साहा ने फीकी चाय कर्नल के हाथ में देते हुए कहा अब उठ भी जाइए कर्नल साहब....

कर्नल ने मिसेज साहा के मूड को बिती रात ही बखूबी भाप लिया था...और जब मिसेज साहा लव वीक की बात कर रही थी, तो कर्नल भी यहीं सोच रहे थे कि क्या सच में यह सीजन सिर्फ यंगस्टर का है...फिर खुद ही खुद को जवाब दिया... नहीं कर्नल यह तो प्यार का सीजन है और प्यार की कोई उम्र नहीं होती...प्यार कभी भी, किसी को भी हो सकता है...और मिसेज साह तो आपका 50 साल का प्यार है...बस फिर क्या कर्नल ने रात को ही इस सीजन के अगले दिन यानी 10 फरवरी टेडी डे की तैयारी शुरी कर दी, कर्नल ने मिसेज साहा के सोने के बाद उनके लिए ऑनलाइन क टेडी बुक कर दिया।

अगले दिन भी वो लव सीजन के नाम पर मिसेज साहा की किट-किट जारी रहती है...कि एकाएक दरवाजे की बेल बजती है......कर्नल बैठे होने के बावजूद गेट खोलने के लिए नहीं उठते है, जिसपर झल्लाते हुए मिसेज साहा कहती है कि मै क्या नौकरानी हूं कि आप यहां खाली होकर भी दरवाजा खोलने नहीं खोल सकते.....

गुस्से से बौखलाई मिसेज साहा ने दरवाजा खोला...तो सामने एक आदमी बड़ा-सा टेडी लिए खड़ा था...और उसने कहा मैम हैप्पी टेडी डे...हल्की सी मुस्कान के साथ जह मिसेज साहा ने पिछे मुड़कर देखा, तो उनके ठीक पीछे ही कर्नल साहब खड़े थे और बोले हैप्पी टेडी डे माई लाइफ स्वीट, सॉफ्ट एंड क्यूट टेडी मिसेज कर्नल साहा जी......हैप्पी टेडी डे.......