श्री साई कोचिंग सेंटर ने सेलिब्रेट किया सफलता का 10वा साल, न्यू बैच शुरू

Slider 1
« »
5th April, 2019, Edited by Shikha singh

एजुकेशन डेस्क। कहते हैं किसी भी स्टूडेंट्स की सफलता के पीछे की कहानी में एक गुरु पुरे विश्वास के साथ खड़ा होता है। सही समय पर सही तरीके से दिए हुए विद्या किसी को भी शिखर तक पहुचाने में गुरु का एक बड़ा रोल होता है। कुछ ऐसे ही थीम के साथ सिटी के पांडेयपुर स्थित श्री साई कोचिंग सेंटर ने अपने 10वें साल को पूरा कर लिया। संस्था के निदेशक ईश्वर चन्द्र चौहान का कहना है कि जहाँ एक तरफ आज कोचिंग को सिर्फ कमाने का जरिया लोगों ने बना रखा है, वही आज भी इस संस्था में स्टूडेंट्स की सफलता को ध्यान में रख कर पुरे साल मेहनत किया जाता है। यहाँ से पढ़कर आगे बढ़ाने वाला हर स्टूडेंट्स खुद-ब-खुद कोचिंग के बारें में बया करता है।   

01 अप्रैल से न्यू बैच

संस्था के निदेशक ईश्वर चन्द्र चौहान के अनुसार सत्र 2019-20 मे प्रवेश व अध्यापन का कार्य के लिए 01 अप्रैल से न्यू बैच स्टार्ट कर दिया गया है। ऐसे में जो स्टूडेंट्स एडमिशन लेना चाहते हैं, अपनी सिट जल्द रजिस्टर्ड कराएँ।   

संस्था का हमारा मूल मंत्र

संस्था के बारें में निदेशक ईश्वर चन्द्र चौहान ने कहा कि इस संस्था में अध्यापन व अनुशासन ही स्टूडेंट्स की सफलता का मूल मन्त्र है। ऐसा आगे भी चलता रहेगा। उन्होंने कहा जब तक कोई स्टूडेंट्स अनुशासित नहीं होगा तब तक वह सफल नहीं हो सकता।   

संस्था की महत्वपूर्ण विशेषताएं  

1.   योग्य एवं अनुभवी शिक्षक।   

2.   नियमित अनुशासित कक्षाओं का संचालन।   

3.   साप्ताहिक व मासिक टेस्ट की सुविधा।   

4.   CCTV (कैमरा युक्त कक्षाएं व कैंपस)।   

5.   कमजोर छात्रों पर विशेष ध्यान । 

6.   समय-समय पर अभिभावकों से संपर्क करके छात्र की गतिविधियों से अवगत कराना। 

सीएचएस और बीएचयू एंट्रेंस की खास तैयारी

आपको बता दें कि सीएचएस और बीएचयू एंट्रेंस के लिए श्री साई कोचिंग सेंटर में विशेष क्लास चलाई जा रही है।   इसके लिए अनुभवी अध्यापक हायर किये गए हैं। साथ ही पिछले साल के कई सलेक्टेड स्टूडेंट्स रहें हैं।   

स्कूलिंग और कोचिंग साथ-साथ

आपका बच्चा पढने में अच्छा है और आप चाहते हैं की सिटी के किसी टॉप स्कूल में उसका एडमिशन हो पर किसी कारण से ऐसा नहीं हो पाता है। ऐसे में आपके सामने विकल्प ये बचता है कि या तो आप एक साल तक इंतजार करें या फिर सिटी में तमाम पढाई के नाम पर पैसा बटोरने वाली स्कूलों में एडमिशन करा दें। लेकिन आपको ऐसा नहीं करना चाहिए। पहले सिर्फ मेट्रो सिटी में स्कूलिंग और कोचिंग एक साथ होती थी। लेकिन अब यह छोटे सिटी में भी अपना परिचय कराने लगा है।

प्रतियोगी परीक्षाओं के योग्य कम्बो प्लान

दरअसल, इसका चलन इसलिए शुरू हुआ की कुछ समय पहले एजुकेशन एक्सपर्ट ने देखा कि स्कूल में बच्चे पढ़कर आते हैं फिर उनको कोचिंग जाना होता है और यदि आपका बच्चा किसी अच्छे स्कूल में नहीं जाता तो कोचिंग और स्कूल दोनों जगह के टीचर्स के पढ़ाने का तरीका अलग-अलग हो जाता है, जिससे वह काफी परेशान होता है। ऐसे में सिटी के पांडेयपुर स्थित श्री साईं स्कूल ऑफ़ फाउंडेशन का स्कूलिंग का प्लान आपके बच्चे के लिए बेस्ट रहेगा।

फीस भी आपके बजट में

श्री साईं स्कूल ऑफ़ फाउंडेशन के निदेशक ईश्वर चन्द्र चौहान ने बताया कि सीबीएससी के नाम पर अधिक फीस भरने के बजाय पैरेंट्स को यहाँ काफी कम फीस में ( Schooling + Coaching ) बच्चों का एडमिशन लिया जा रहा है। साथ ही निदेशक ने बताया कि स्टूडेंट्स के प्रयोगशाला सुविधा भी उपलब्ध कराया जा रहा है।