इलाहाबाद को है विकास कि आशा, इसलिए दोबारा मेयर बनीं अभिलाषा

Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
2nd December, 2017 - 11:47 AM, Edited by Focus24 team

इलाहाबाद। नगर निकाय चुनाव में अभिलाषा गुप्ता ऐसी पहली मेयर हैं, जो दूसरी बार मेयर बनी हैं। बता दें कि योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी की पत्नी हैं। अभिलाषा गुप्ता 10 दिसंबर 2011 को ये पहली बार मेयर चुनी गई थी। यह उनका दूसरा टर्म है। इनकी लव स्टोरी काफी इंटरेस्टिंग है। बता दें, यूपी के 16 नगर निगम, 198 नगरपालिका और 438 नगर पंचायतों के चुनाव के नतीजे शुक्रवार को आए। 16 नगर निगमों में से 14 पर बीजेपी और 2 पर बीएसपी ने जीत हासिल की। 

MA डिग्री वाली अभिलाषा का दिल आया था 10वीं पास लड़के पर

नंद गोपाल नंदी और अभिलाषा मिश्रा के घर महज 500 मीटर की दूरी पर थे। बात उन दिनों की है, जब अभिलाषा ग्रैजुएशन कर रही थीं। ग्रैजुएशन के दौरान उनका अफेयर नंद गोपाल से हो गया। दोनों का इश्क परवान चढ़ चुका था, लेकिन घरवाले उनके खिलाफ थे। नंद गोपाल ने 10वीं पास करने के बाद ही पढ़ाई छोड़ दी थी। वो खुद का बिजनेस जमाने की कोशिशों में लगे थे।


2 साल के अफेयर के बाद भाग गए दोनों
अभिलाषा का ब्राह्मण परिवार ये बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था कि उनकी लड़की एक गुप्ता लड़के से प्रेम संबंध रखे। घरवालों का विरोध देखते हुए दोनों ने भागकर शादी करने का फैसला लिया। 2 साल के अफेयर के बाद 1995 में नंदी अभिलाषा को लेकर भाग गए और शादी कर ली। घर वालों को ये रिश्ता मंजूर नहीं था। इसलिए उन्होंने उनसे संबंध खत्म कर लिए। हालांक‍ि, समय के साथ घरवालों ने इनके प्यार को समझा और अब दोनों परिवार हंसी-खुशी रहते हैं।


50 पैसे लेकर फिल्म दिखाने का बिजनेस करते थे नंदी
नंद गोपाल के करीबियों के मुताबिक, उनकी शुरुआती लाइफ गरीबी में कटी है। 10वीं के बाद पढ़ाई छोड़ने वाले नंदी को बिजनेस जमाने का जुनून था। वे शुरुआत में बहादुरगंज की गलियों में बच्चों को ब्लैक-व्हाइट टीवी पर 50 पैसे में फिल्में दिखाते थे। आज 88 करोड़ रुपए के मालिक हैं। बिजनेस के अलावा वे पॉलिटिक्स में भी एक्टिव रहे हैं। 2007 में वे मायावती सरकार में मंत्री बनाए गए थे। अब वो योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री हैं।