सोच हमेशा पाजटिव हो और कॉन्फिडेंस में रहें आप : रजनीश

Slider 1
Slider 1
Slider 1
« »
6th October, 2019, Edited by Shivangi Agarwal

वाराणसी सिटी। पाजटिव थिंकिंग एक ऐसी शक्ति है जो पहाड़ को भी अपने सामने झुका सकती है, इसे अगर कोई दैवीय शक्ति कहा जाए तो गलत नहीं होगा। ऐसे में जितना हो सके नेगेटिव सोच से दूर रहें।  देखा जाय तो बुरा समय किसका नहीं आता, ये जीवन है और इसमें बुरी परिस्थितियों से भी लड़ना होता है। लेकिन इसके लिए जरूरी है की हमारी सोच हमेशा सकारात्मक हो और हम हमेशा कॉन्फिडेंस में रहें। वो कहते हैं न की समय खराब हो तो कुछ लोग टूट जाते हैं और कुछ लोग निखर जाते हैं। इसमें टूटते वो लोग हैं जो हमेशा नकारात्मक सोचते हैं और निखरते हैं पॉजिटिव लोग होते हैं। यह बातें शनिवार को पहड़िया स्थित मार्डेन इंग्लिश स्टूडियो में सेमिनार लें रहे रजनीश पाण्डेय ने कही।

आशा की एक किरण सारे नकारात्मक विचारों को मिटा सकती है

पाजटिव रहने के बड़े फायदे होते हैं। इसकी शुरुआत होप और बिलीव से होती है। मान लीजए कि किसी जगह पर चारों ओर अँधेरा है और कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा और वहां पर अगर हम एक छोटा सा दीपक जला देंगे तो उस दीपक में इतनी शक्ति है कि वह छोटा सा दीपक चारों ओर फैले अँधेरे को एक पल में दूर कर देगा। इसी तरह आशा की एक किरण सारे नकारात्मक विचारों को एक पल में मिटा सकती है।

- नीरज पाठक, निदेशक, मार्डेन इंग्लिश स्टूडियो।  

कैजुअल इंग्लिश से अलग है प्रोफेशनल इंग्लिश 

आमतौर पर बोली जाने वाली कैजुअल इंग्लिश के बजाय प्रोफेशनल इंग्लिश जॉब में ज्यादा जरूरी होती है। बिजनेस इंग्लिश के लिए आपकी रीडिंग, राइटिंग व स्पीकिंग स्किल्स अच्छी होनी चाहिए। पेशेवर वोकैबलरी और ग्रामर पर ध्यान देना होगा। प्रोफेशनल इंग्लिश जानना यानी फोन कॉल्स, रिपोर्ट राइटिंग, मीटिंग्स में इंग्लिश का इस्तेमाल। इतना ही नहीं आपको अपनी कंपनी की विशेषज्ञता के बारे में भी इंग्लिश में बोलना आना चाहिए। 

इस तरह मजबूत बनाइए अपनी इंग्लिश स्किल्स को 

संकोच को किनारे करें 

अंग्रेजी सीखने का पहला सबक यही है कि आपको शर्म और संकोच को किनारे करना होगा। जितना आपका आत्मविश्वास मजबूत होगा उतनी ही जल्दी सफलता मिलेगी। भूल जाइए कि कौन सुन रहा है या फिर लोग आपका मजाक उड़ाएंगे। सही ग्रामर के साथ प्रैक्टिस जारी रखें। 

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की मदद

सोशल मीडिया पर ट्वीटडेक, हूटसुइट जैसी सर्विसेज की मदद से भी आप इंग्लिश स्किल्स को सुधार सकते हैं। ट्वीटर पर आप किसी टॉपिक विशेष पर लोगों की बातचीत में शामिल हो सकते हैं। यहां अकाउंट बनाकर आप अपनी रुचि के टॉपिक से जुड़े कॉन्वरसेशंस को फॉलो कर सकते हैं। प्रैक्टिस के लिए यह एक बेहतर माध्यम है। 

क्या हैं फायदे इंग्लिश लर्निंग के

ज्यादातर बिजनेस फर्म्स को अपने इंटरनेशनल कस्टमर्स के लिए इंग्लिश नॉलेज वाले प्रोफेशनल्स की जरूरत होती है। गूगल, एप्पल, माइक्रोसॉफ्ट समेत दुनिया की तमाम प्रतिष्ठित कंपनियों में प्रवेश के लिए भी डिग्री के साथ-साथ इंग्लिश जरूरी है। इतना ही नहीं नौकरी मिलने के बाद भी प्रमोशन मिलने में अंग्रेजी की समझ काम आती है। आप कंपनी में किसी भी पद से शुरुआत करें इंग्लिश तरक्की के अवसरों को बढ़ाएगी। 

सुनिए और सीखिए 

इंग्लिश न्यूज व टॉक शो सुनिए। अॉफिस मीटिंग्स में होने वाले प्रोफेशनल कॉन्वरसेशन को ध्यान से सुनिए। उनके द्वारा इस्तेमाल होने वाले इडियम, फ्रेज और शब्दों को ध्यान से सुनिए। सुनकर प्रैक्टिस करने पर अाप अपनी स्किल्स को बेहतर बना सकते हैं। 

वीडियो लर्निंग 

विजुअल लर्नर्स फ्लूएंट यू जैसी वेबसाइट्स की मदद ले सकते हैं। यहां आप बिजनेस से जुड़े इंग्लिश वीडियो देख सकते हैं। इसके अलावा मेमराइज, ड्यूोलिंगो, बीबीसी इंग्लिश लर्निंग समेत कई एप उपलब्ध हैं, जो आपकी इंग्लिश को बेहतर बनाने में आपके काम आ सकते हैं।

हर सप्ताह न्यू बैच स्टार्ट

सिटी के पहरिया स्थित इंग्लिश मार्डेन स्टूडियो में हर सप्ताह इंग्लिश स्पोकन की नई बैच स्टार्ट हो रही है। आप अच्छी इंग्लिश सीखना चाहते हैं तो इस नम्बर पर कॉल करके जानकारी ले सकते हैं- 9795024371