NAVRATRI SPECIAL : नौरात्रि में ऐसे करें माँ की आराधना, पूरी होगी हर मन्नत

Slider 1
« »
14th March, 2018, Edited by Ananya Rawat

कानपुर सिटी। हिन्दू धर्म में माता दुर्गा को आदिशक्ति कहा जाता है। शक्तिदायिनी मां दुर्गा की आराधना के लिए साल के दो पखवाड़े बेहद महत्त्वपूर्ण माने जाते हैं। यह दो समय होते हैं चैत्र नवरात्र  और शारदीय नवरात्र। चैत्र नवरात्र चैत्र माह में मनाया जाता है। जबकि शारदीय नवरात्र आश्विन माह में मनाया जाता है। ऐसे में इस साल चैत्र नवरात्र 18 मार्च से शुरू होंगे और 26 मार्च को खत्म होंगे। चैत्र नवरात्र की मुख्य तिथियां निम्न हैं:

नौरात्रि पर माँ की ऐसे करे पूजा

इस दिन घटस्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 07 बजकर 29 मिनट से लेकर 08 बजकर 27 मिनट तक का है। नवरात्र के पहले दिन मा शैलपुत्री की पूजा की जाती है। और दुसरे दिन देवी ब्रह्मचारनी की पूजा की जाती है। नवरात्र के तीसरे दिन देवी दुर्गा के चन्द्रघंटा की आराधना की जाती है।  इस साल माता के चौथे स्वरूप देवी कुष्मांडा जी की आराधना की जाएगी। जबकि  नवरात्र के पांचवें दिन भगवान कार्तिकेय की माता स्कंदमाता की पूजा की जाती है।

नारदपुराण के अनुसार शुक्ल पक्ष यानि चैत्र नवरात्र के छठे दिन मा कत्यानी की पूजा का विधान है।नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि की पूजा का विधान है। नवरात्र के आठवें दिन माँ महागौरी की पूजा की जाती है। इस दिन कई लोग कन्या पूजन भी करते हैं।नौवें दिन भगवती के  देवी सिध्दात्री की स्वरूप का पूजन किया जाता है। सिद्धिदात्री की पूजा से नवरात्र में नवदुर्गा पूजा का अनुष्ठान पूर्ण हो जाता है।