सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाबालिग लड़कियों के विवाह पर लगेगी रोक

Slider 1
« »
11th October, 2017 - 1:37 PM, Edited by Focus24 team

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नाबालिग पत्नी से यौन संबंध स्थापित करने को बलात्कार के दायरे में लाए जाने के फैसले का स्वास्थ्य क्षेत्र में कार्य कर रहे विशेषज्ञों ने स्वागत किया है। उनका कहना है कि इस फैसले से लड़कियों के कम उम्र में होने वाले विवाह की प्रवृत्ति पर रोक लगेगी। राष्ट्रीय परिवार कल्याण सर्वे (एनएचएचएस-4) के आंकड़ों के अनुसार करीब 27 फीसदी लड़कियों की शादी अभी भी 18 साल से पहले हो जाती है। कई राज्यों के ग्रामीण इलाकों में यह प्रतिशत 46 फीसदी तक दर्ज किया गया है।

पापुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया की कार्यकारी निदेशक डा. पूनम मुर्तजा ने कहा कि इस फैसले के लागू होने से नाबालिग लड़कियों के विवाह घटेंगे। अभी भी कानून है लेकिन कानूनी प्रावधानों से लोग उतना नहीं डरते हैं जितना सुप्रीम कोर्ट के आदेश से। सरकारी एजेंसियां भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लागू करने के मामले में तत्पर रहती हैं। उन्हें भी इस बात का ध्यान रहता है कि कोई इसका उल्लंघन नहीं करे। इसलिए इस फैसले के बाद बेटे का विवाह करने वाले जरूर पहले यह प्रमाण पत्र देखेंगे कि होने वाली बहू 18 साल पूरे कर चुकी है या नहीं।