दिल की नजर से खूबसूरत

Slider 1
« »
21st September, 2019, Edited by Shivangi Agarwal

फीचर्स डेस्क। हमने अपनी कल्पनाओं को सतरँगी रंगों से “शब्दमोती” किताब में उतारा हैं। हम सात लेखिका मिलकर एक सपना देखा फिर पूरी सिद्दत से उसको पूरा करने में जुट गए रिजल्ट आज “शब्दमोती” के रूप मे सबके सामने है। ऐसे में पाठको से उम्मीद है सबकों इस साथ लेखिकाओं की इन नवीन कहानियां पसन्द आएंगी। दरअसल, "शब्दमोती" सिर्फ एक नाम नहीं ये एक पहचान है हम सात सखियों की। जो कभी एक दूसरे से नहीं मिली केवल आभासी दुनिया के जरिए परिचय हुआ और आज उनका सामूहिक प्रयास शब्दमोती के रूप में आप सबके सामने प्रस्तुत है। ये सिर्फ एक किताब नहीं यह एक सपना है जिसे सात अलग परिवेश, अलग राज्य की लेखिकाओं ने सामूहिक रूप से देखा है।

लेखिका :  गीता तिवारी जोशी।

स्टेट :    हल्द्वानी, उत्तराखंड।

शौक  :   मुझे कहानियां लिखना।

कहानियों का सारांश

प्यार की कोई परिभाषा नहीं

प्यार तो एक सच्चा अहसास है जो किसी से भी हो सकता हैं प्यार दिल की नजर से होता हैं कुछ ऐसा ही मेरी कहानी में भी है जिसका शीर्षक हैं-"दिल की नजर से खूबसूरत"। क्या प्यार शीतल और राजीव के प्यार को अपनी मंजिल मिल पाएगी? जानने के लिए पढ़िए शब्दमोती की ये नवीनतम कहानी।

अतृप्त आत्मा

कहते हैं कि आत्मा कभी नही मरती सिर्फ शरीर मरता हैं। आकस्मिक मौत हो जाने पर आत्माएं भटकती रहती हैं। जानिए मेरी शब्दमोती की कहानी "अतृप्त आत्मा" में। क्या आशा की भटकती अतृप्त आत्मा तृप्त हो पाएगी या निर्दोष कूहु का शरीर हमेशा के लिए आशा का हो जाएगा।

भगवान के घर देर है अंधेर नही

दीपा की जिंदगी उसके जीवनसाथी ने नर्क बनाकर खराब कर दी सीधी साधी दीपा क्या निकल पाएगी इस नर्क से जानने के लिए पढ़िए शब्दमोती की ये कहानी। "भगवान के घर देर है अंधेर नही"।