स्टूडेंट्स को बाहर का ज्ञान हासिल कराने वाला शिक्षक महान : श्याम चावला

Slider 1
« »
7th October, 2019, Edited by Shivangi Agarwal

चंडीगढ़ सिटी। हाईग्राउंड्स स्थित केंद्रीय विद्यालय में छात्रों के बीच शिक्षा के प्रति रूचि पैदा करने के लिए प्राचार्या श्याम चावला ने एक बेहद दिलचस्प तरीका निकाला है। उन्होने स्टूडेंट्स स्टूडेंट्स से कहा की वो वेस्ट सामग्री से घरेलू सामान से काम की चीजें बना सकते हैं। इसके लिए उन्होने शिक्षा रत्न जसविंदर सिंह,लैब ऑन व्हील्स को आमंत्रित किया। इस दौरान उन्हें खेल के माध्यम से विज्ञान और गणित की बारीकियां सिखाई गईंI इस अवसर पर संसाधक शिक्षा रत्न जसविंदर सिंह , लैब ऑन व्हील्स चलाने वाले छात्रों को गेम्स के माध्यम से विज्ञान समझाने की कोशिश की।

विज्ञान के आसान गेम्स बनाने के लिए वेस्ट सामग्री का इस्तेमाल करते हुए सिंह ने अनेक सफल प्रयोग करके दिखाए। जसविंदर सिंह ने छात्रों को न्यूटन, पास्कल, आर्किमिडिस के सिद्धांत बताते हुए सोलर पंखे, बल्ब और विद्युत् ऊर्जा के बारे में खेल खेल में सिखायाI

सिंह ने आइसक्रीम स्टिक, कागज, प्लास्टिक, बोतल के ढक्कन, पुरानी बुक्स समेत अन्य सामान के साथ छात्रों के हाथों अनेक प्रयोग करके दिखाए। इस मौके पर उपप्राचार्य डॉक्टर मेधा उपाध्याय ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि विज्ञान के सिद्दांत स्वयं करके देखने से अधिक सीखा जा सकता है I डॉक्टर मेधा उपाध्याय ने शिक्षा रत्न सिंह के छात्रों को जागरूक करने के अभियान की प्रशंसा करते हुए छात्रों और शिक्षकों से अधिक से अधिक अनुभव करके ज्ञानार्जन का आह्वान किया ताकि भावी पीढ़ी जो ज्ञान अर्जित करे वह व्यावहारिक और रोजगारपरक हो और रटने की प्रवृत्ति पर रोक लगेI उन्होंने प्राचार्या श्याम चावला को यह अवसर प्रदान करने के लिए आभार प्रकट किया।

प्राचार्या श्याम चावला ने शिक्षा रत्न सिंह की प्रशंसा करते हुए कहा कि छात्रों को कक्षा की चारदीवारी से बाहर ज्ञान हासिल करने के लिए प्रेरित करने वाला शिक्षक महान होता है I शिक्षकों को नवोन्मेषण करते हुए शिक्षण को रौचक बनाना चाहिए ताकि वक्त के हिसाब से छात्रों को तैयार किया जा सके। छात्रों ने इस दौरान सिंह से गणित और भौतिकी पर प्रश्न किये जिनका निदान जसविंदर सिंह ने खेल खेल के माध्यम से अपनी लैब ऑन व्हील्स पर उपलब्ध सामग्री से किया I छात्रों ने इस प्रकार के प्रयोगों को बहुत सराहा। इस मौके पर छात्रों के साथ सभी शिक्षक मौजूद रहे I