2019 लोकसभा चुनाव के लिए NDA में सीटों के बंटवारे पर फंसा पेंच

Slider 1
« »
25th June, 2018 - 8:32 AM, Edited by Focus24 team

नई दिल्ली। जेडीयू के कारण बिहार में 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए एनडीए में सीटों के बंटवारे पेंच फंसता दिख रहा है। ज्यादा से ज्यादा सीटें लेने को लेकर नीतीश के नेतृत्व वाली जेडीयू ने सीटों के बंटवारे को लेकर बड़ा राजनीतिक दांव चला है।

उसका प्रस्ताव है कि गठबंधन में शामिल चारों पार्टियों क्रमश: भाजपा,लोजपा, जेडीयू और आरएलएसपी को 2015 के विधानसभा में प्रदर्शन के आधार पर सीटें दी जाएं। दरअसल, ऐसा होने पर सबसे ज्यादा फायदा जेडीयू को होना है क्योंकि उसका प्रदर्शन 2015 के चुनाव में सबसे अच्छा रहा था। जेडीयू का तर्क है कि 2015 का विधानसभा चुनाव राज्य में सबसे ताजा शक्ति परीक्षण था और आम चुनावों के लिए सीट बंटवारे में इसके नतीजों की अनदेखी नहीं की जा सकती है।

हालांकि, जेडीयू की इस मांग पर भाजपा, राम विलास पासवान की लोजपा या फिर उपेंद्र कुशवाहा की आरएलएसपी का मानना लगभग असंभव है। अब भी इन चारों पार्टियों के बीच बिहार की 40 सीटों के बंटवारों को लेकर औपचारिक चर्चा होनी बाकी है। हाल में जेडीयू की ओर से साफ कहा गया था कि बिहार में एनडीए के नेता नीतीश होंगे और पार्टी ने 25 सीटों पर दावा जताया था।